Home » दिल्ली हिंसा: भड़काऊ नारों के साथ गाड़ियों, रिक्शा, दुकानों में आग लगाते हुए आगे बढ़ रही थी भीड़

दिल्ली हिंसा: भड़काऊ नारों के साथ गाड़ियों, रिक्शा, दुकानों में आग लगाते हुए आगे बढ़ रही थी भीड़

Delhi Violence : 18 killed 250 injured, detailed report
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Ground Report News Desk | New Delhi

CAA के विरोधियों और समर्थकों के बीच जारी हिंसा का आज चौथा दिन है। रविवार से शुरू हुई हिंसा देखते ही देखते उत्तर पूर्वी दिल्ली के कई इलाकों में फैल गई। इस हिंसा (Delhi Violence) में रविवार से लेकर अब तक कुल 18 लोगों के मारे जाने की खबर है, जबकि घायलों की संख्या 150 से बढ़कर 250 पार हो चुकी है। घायल हुए इन 250 लोगों में से करीब 60 लोग दिल्ली पुलिस के जवान हैं।

उत्तरपूर्वी इलाके में हिंसा के दूसरे दिन चांदबाग, भजनपुरा सहित कई इलाकों में तनाव बढ़ता चला गया। दंगाइयों ने जमकर पत्थरबाजी की। कई दुकानों को आग के हवाले कर दिया गया। इतना ही नहीं गोकलपुरी में दो दमकल वाहनों में भी तोड़-फोड़ की गई। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, भड़काऊ नारों के साथ आगे बढ़ रहे दंगाइयों ने फल की गाड़ियों, रिक्शा, रेहड़ियों को आग लगा दी।

READ:  Mass cremations begin as Delhi faces deluge of COVID-19 deaths

यह भी पढ़ें: पुलिसवाले ने दंगाइयों से कहा कि जाओ पत्थर फेंको, दिल्ली हिंसा का आंखों देखा मंजर-2

उत्तर पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद, मौजपुर, बाबरपुर और चांदबाग में रविवार, सोमवार और मंगलवार को लगातार हिंसा जारी रही। इलाके में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। धारा 144 लगाने के साथ ही देखते ही गोली मारने के आदेश भी जारी कर दिये गए हैं।

स्थिति को काबू में करने में कई मौकों पर पुलिस के पसीने छूटते नजर आए। गृहमंत्री अमित शाह ने दो बार तत्काल बैठक की। लॉ एंड ऑर्डर कंट्रोल करने के लिए पुलिस ने माइक के जरिए दंगाइयों को सख्त संदेश दिए और हिंसा भड़काने वालों को देखते ही गोली मारने की चेतावनी भी दी गई। कड़ी मशक्कत के बाद देर रात जाफराबाद और मौजपुर में प्रदर्शनकारियों को खदेड़ दिया।

READ:  Delhi corona: 25,500 नए कोरोना मामले, ICU बेड खत्म, दम तोड़ती व्यवस्था

यह भी पढ़ें: दंगाई फल लूट कर अर्ध सैनिक बलों को खिला रहे थे, दिल्ली हिंसा का आंखों देखा मंज़र

वहीं मौजपुर मेट्रो स्टेशन के पास हालात तब और ज्यादा बिगड़ गए जब दो पक्ष आमने-सामने आ गए और जमकर पत्थरबाजी होने लगी। कुछ राउंड फायरिंग के भी हुए। हालातों को काबू में करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे और भीड़ को तितर-बितर किया।

बता दें कि इससे पहले दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता एम एस रंधावा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस पूरे घटनाक्रम की जानकारी देते हुए कहा है कि, हिंसा पर अब काबू पा लिया गया है। दिल्ली हिंसा में अब तक 10 लोगों की मौत हुई है। उत्तर पूर्वी इलाके में हुई हिंसा में 150 लोग घायल हो गए है, इसमें 130 आम लोग भी शामिल हैं। हिंसा में दो आईपीएस अधिकारी और 56 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं।

READ:  West Bengal Violence: Mithun Chakraborty ने क्या कहा?

आप ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।