Home » दंगों में बीएसएफ के जवान का घर जलकर हुआ था ख़ाक, सेना करेगी घर बनाने में मदद

दंगों में बीएसएफ के जवान का घर जलकर हुआ था ख़ाक, सेना करेगी घर बनाने में मदद

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के उत्तरपूर्वी इलाकों में पिछले एक हफ्ते में जो दंगे हुए, उसमें खजूरी खास का इलाका भी शामिल था । 25 फरवरी को खजूरी खास की गली नंबर पांच में दंगाइयों ने जिन करीब 40 मकानों को निशाना बनाया, उनमें बीएसएफ के एक जवान मोहम्मद अनीस का घर भी शामिल था।

अनीस की पोस्टिंग फिलहाल ओडिशा में है । घटना की जानकारी मिलने के बाद हाल ही में घर लौटे हैं. उनके परिवार में कुल आठ लोग हैं, जो घटना के दौरान घर में ही थे । अनीस और उनकी बहन की इसी साल शादी होनी है। ऐसे में बीएसएफ उनके परिवार की मदद के लिए आगे आया है। बीएसएफ उनके घर के पुनर्निर्माण में मदद करेगा और उन्होंने आर्थिक सहयोग का भी वादा किया है।

BSF के अधिकारी ने कहा कि वो मोहम्मद अनीस के घर को एक बार फिर संवारने की कोशिश करेंगे। इसके लिए इंजीनियर की टीम भी आ चुकी है, जो घर को पहले जैसा करने का प्रयास करेगी। साथ ही BSF की तरफ से जवान के परिवार को आर्थिक मदद भी जाएगी। BSF के डिप्टी इंस्पेक्टर पुष्पेंद्र राठौर ने कहा कि BSF इंजीनियर आ चुके हैं और वो कॉन्स्टेबल के घर की मरम्मत करेंगे। साथ ही वेलफेयर फंड से उनके परिवार को आर्थिक सहायता दी जाएगी।

अनीस के पिता मोहम्मद मुनिस ने बताया, ‘मैंने जिंदगी में कभी नहीं सोचा था कि ऐसा माहौल देखने को मिलेगा। हम लोग घर में फंस गए थे, अगर फोर्स नहीं आती तो हम बच नहीं पाते। दंगाइयों की भीड़ पाकिस्तानियों बाहर निकलो, देश के गद्दारों को गोली, मारो सालों को और जय श्री राम के नारे लगा रही थी।’

READ:  National Zoological park Delhi: In pictures

BSF के डायरेक्टर जनरल विवेक जोहरी ने बताया था, ‘हम पीड़ित जवान की वित्तीय मदद करेंगे और उसका घर बनाने में सहायता करेंगे। इंजिनियरिंग विभाग की एक टीम जवान के घर पर क्षति का आकलन कर रही है।’ कांस्टेबल अनीस को BSF वेलफेयर फंड से 5 लाख का चेक दिया जाएगा। BSF चीफ ने कहा कि जवान की तीन महीने बाद शादी होने वाली थी, तो यह उसके लिए हमारी तरफ से तोहफा होगा। अनीस ने 2013 में BSF में अपना करियर शुरू किया और करीब 3 साल जम्मू-कश्मीर में सेवा दी।

आप ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@gmail.com पर मेल कर सकते हैं।