Home » पुलिसवाले ने दंगाइयों से कहा कि जाओ पत्थर फेंको, दिल्ली हिंसा का आंखों देखा मंजर-2

पुलिसवाले ने दंगाइयों से कहा कि जाओ पत्थर फेंको, दिल्ली हिंसा का आंखों देखा मंजर-2

Delhi Violence Ground report
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Ground Report News Desk | New Delhi

दिल्ली के कई इलाकें युद्धभूमि में तब्तिल हो चुके हैं। CAA का विरोध और समर्थन करने वाले लोग आमने-सामने हैं और दोनों ही ओर से पत्थरबाजी हो रही है। कुछ जगह पुलिस तमाशा देखती रही थी तो कुछ जगह बेबस नजर आई। इस पुरे घटनाक्रम की कुछ ऐसी ही दास्तान बयां कर रही है अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़ एजेंसी रायट्रर्स के हवाले से आई यह ग्राउंड रिपोर्ट…

मुस्लिम युवक को बुरी तरह पीटती भीड़ को रॉयटर्स के फोटो जर्नलिस्ट ने अपने कैमरे में कैद किया
कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया गया था। दंगाईयों के मुकाबला करने में पुलिस सक्षम नहीं थी। इस हिंसा में दर्जनों लोग घायल हुए हैं। हिंसा की चपेट में आए क्षेत्रों में धारा 144 लगाई गई है। दंगों में शामिल एक गुट के लोग लगातार जय श्री राम के नारे लगा रहे थे और नागरिकता कानून का विरोध कर रहे लोगों पर पत्थर बरसा रहे थे। दूसरे गुट की ओर से भी पत्थर बरसाए जा रहे थे। एक मुस्लिम युवक और बुरके में एक महिला को नागरिकता कानून समर्थक बुरी तरह डंडों से पीट रहे थे। 

Reuters Delhi Violence Report
Courtesy Reuters

एक पुलिसवाले ने प्रदर्शनकारियों से कहा कि जाओ पत्थर फेंको
रॉयटर्स ने पाया की पुलिसवाले भी नागरिकता कानून समर्थक दंगाईयों को रोकने की कोशिश नहीं कर रहे थे। जब एक मुस्लिम नाम वाले स्टोर को आग के हवाले किया जा रहा था तब पुलिस खड़े हुए तमाशा देख रही थी। एक पुलिसवाले ने प्रदर्शनकारियों से कहा कि जाओ पत्थर फेंको। रोड के एक तरफ कई नौजवान मोटरसाईकल से पेट्रोल निकालकर पेट्रोल बम बना रहे थे। रॉयटर्स को एक अमित नामक शख्स ने कहा कि हम सीएए समर्थक हैं जिन्हें विरोध करना है वे कहीं ओर जाएं।

दिल्ली की सड़कें युद्ध भूमी में तब्दील हो चुकी थी
इस पूरी घटना की ज़मीनी कवरेज कर रही अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़ एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक-पुलिस ने भीड़ को काबू में करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े लेकिन दोनों गुटों की तरफ से जमकर पत्थरबाज़ी हो रही थी जिसके कारण दिल्ली की सड़कें युद्ध भूमी में तब्दील हो चुकी थी।

READ:  Health Tips: जमीन पर बैठकर खाना खाने से होते हैं कई फायदें, कई तरह की बीमारियां अपने आप ही हो जाती है दूर

बता दें कि, CAA के विरोधी और समर्थक के बीच हिंसा कम होती नहीं दिखाई दे रही। हिंसा का आज दूसरा दिन है। मंगलवार सुबह भी जाफराबाद, मौजपुर, करावलनगर समेत उत्तर पूर्व के ज्यादातर इलाकों में तनाव बरकरार है। जबकि अन्य इलाकों में भी हिंसा की भी खबर है। पूर्वी दिल्ली के कई इलाकों में हुई पत्थरबाजी, आगजनी और गोलीबारी की घटना में एक पुलिसकर्मी सहित पांच लोगों की मौत हो गई है, जबकि 100 से ज्यादा लोग जख्मी हो गए। वहीं शाहदरा के पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) अमित शर्मा सहित 12 पुलिसकर्मियों के भी घायल होने की खबर है। इन सब से इतर पढ़ें बीते सोमवार हुई हिंसा का आंखों देखा मंजर। इस पूरे घटनाक्रम को पत्रकार रवि कौशल ने सोशल मीडिया पर शेयर किया है।

READ:  There is no peace without border agreement with China: Army Chief

आप ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।