Home » HOME » कापसहेड़ा दिल्ली: बिल्डिंग थी सील फिर भी फैल गया 1 से 41 लोगों में कोरोना

कापसहेड़ा दिल्ली: बिल्डिंग थी सील फिर भी फैल गया 1 से 41 लोगों में कोरोना

दिल्ली में फिर बढ़ने लगे कोरोनावायरस के मामले
Sharing is Important

Ground Report | News Desk

दिल्ली सरकार तीन से ज़्यादा मरीज़ आने पर इलाके को सील कर देती हैं और उसे कंटेनमेंट ज़ोन बना देती है। दिल्ली के कापसहेड़ा (Kapasheda) में एक बिल्डिंग में एक मरीज़ आने पर ही बिल्डिंग को सील कर दिया था क्योंकि यह इलाका बहुत घना है। लेकिन इसके बाद भी 1 मरीज़ से अब 41 लोगों में कोरोना फैल गया। माना जा रहा है कि लोग कंटेनमेंट ज़ोन से बाहर तो नहीं निकल रहे लेकिन अपने ज़ोन के अंदर ही सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान नहीं रख रहे हैं।

दक्षिणी पश्चिमी दिल्ली के कापसहेड़ा इलाके में 18 अप्रैल को एक इमारत में पहला केस सामने आया था। इसके बाद इस बिल्डिंग को सील कर दिया गया। सभी लोगों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए थे। आज रिपोर्ट आई तो 41 लोग कोरोना संक्रमित मिले। हरियाणा से सटा दिल्ली का कापसहेड़ा काफी सघन इलाका है। इस इमारत में कुल 175 कमरे हैं।

बड़ी बातें-

01

कापसहेड़ा में डीसी ऑफिस के पास ठेके वाली गली में सोनू यादव का मकान है। इसमें 18 अप्रैल को एक व्यक्ति कोरोना संक्रमित पाया गया। इलाके में सघन आबादी को देखते हुए प्रशासन ने इस बिल्डिंग को अगले ही दिन यानी 19 अप्रैल को सील कर दिया। हालांकि, गाइडलाइंस के मुताबिक किसी इलाके को सील तब किया जाता है जब वहां 3 से अधिक केस मिल जाएं,  लेकिन यहां की आबादी को ध्यान में रखकर प्रशासन ने एक केस मिलने के बाद ही इमारत को सील कर दिया था।

READ:  New Delhi suffocates in a cloud of pollution that will last until spring
02

इमारत में रहने वाले सभी लोगों का सैंपल लिया गया और एनआईबी नोएडा में जांच के लिए भेजा गया। इमारत से लिए गए सैंपल में से कुछ की रिपोर्ट शनिवार को आई तो 41 लोग संक्रमित मिले हैं।

03

कापसहेड़ा की आबादी 1.25 लाख से अधिक बताई जाती है। यहां बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूरी और दिल्ली और गुड़गांव की फैक्ट्रियों में काम करने वाले मजदूर रहते हैं। संकरी गलियों में एक दूसरे से सटे हुए मकान और हर मकान के एक-एक कमरे में कई-कई लोग रहते हैं। यहां की सघन आबादी को देखते हुए प्रशासन की चिंता बढ़ गई है।

04

राजधानी दिल्ली में अब तक 3738 कोरोना संक्रमित केस मिले हैं। इनमें से 1167 ठीक हो चुके हैं तो 61 लोगों की जान जा चुकी है। दिल्ली में 100 से ज्यादा कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं। सभी इलाके रेड जोन में हैं। 

READ:  Pollution level in Delhi remains bad
05

दिल्ली में कोरोना मरीज़ों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। कंटेनमेंट ज़ोन में अबतक मामलों में बढ़ोतरी नहीं देखी जा रही था। कापसहेड़ा में आए इस मामले ने और चिंता बढ़ा दी है। कुल मिलाकर 175 लोगों के सैंपल में से 67 लोगों के सैंपल की रिपोर्ट आज आई है, इनमें से 41 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं।


ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।