केजरीवाल सरकार ने कोरोना संक्रमण से हुई मौतों का छिपाया आंकड़ा !

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Ground Report | New Delhi

दिल्ली में कोरोना से हुई मौत के आंकड़ों को लेकर विवाद छिड़ गया है । बीजेपी और दिल्ली नगर निगम MCD ने केजरीवाल सरकार पर कोरोना संक्रमण से हुई मौतों के आंकड़े छिपाने का आरोप लगाया है । आरोप है कि दिल्ली सरकार राजधानी में कोरोना की स्थिति को बेहतर स्थिति में दिखाने के लिए जानबूझकर कोरोना से हुए मौत के आंकड़े कम करके दिखा रही है। दिल्ली सरकार पर लगे आरोप की पुष्टि तब होती दिखी जब मुख्य सचिव विजय देव का एक पत्र लोगों के सामने आ गया जिसमें उन्होंने संबंधित अधिकारियों को मौत के सभी आंकड़ों को नियमों के अनुसार सरकार (Death Audit Committee) को भेजने को कहा। 

MCD ने मौतों के आधिकारिक आंकड़े कर दिए जारी

दिल्ली नगर निगम MCD ने बाकायदा आधिकारिक रूप से सूची भी जारी कर दी है। MCD ने कोरोना से होने वाली मौतों के आधिकारिक आंकड़े जारी किए हैं। MCD ने दिल्ली में कोरोना से 340 लोगों की मौत का दावा किया है। साउथ MCD में 187 और नॉर्थ एमसीडी में 153 कोरोना मरीज़ों की मौत का दावा किया गया है। दूसरी ओर, दिल्ली सरकार के मुताबिक कोरोना से अबतक 73 लोगों की हुई मौत हुई है।

साउथ MCD का दावा है कि अब तक उसके इलाके के श्मशान और कब्रिस्तान में कोरोना के 187 मृतकों का अंतिम संस्कार किया जा चुका है। नॉर्थ MCD के मुताबिक निगम बोध घाट में 9 मई तक 153 कोरोना पॉजिटिव/संदिग्धों का अंतिम संस्कार कोरोना प्रोटोकॉल के तहत हुआ। जबकि साउथ एमसीडी के मुताबिक 10 मई तक पंजाबी बाग घाट पर 96, आईटीओ कब्रिस्तान पर 91 कोरोना पॉजिटिव/संदिग्धों का अंतिम संस्कार हुआ।

ALSO READ:  पुलिसकर्मियों पर बढ़ते हमले सरकार के प्रति बढ़ते अविश्वास का परिणाम है

सरकारी रिकार्ड में ग़लत जानकारी

शनिवार को एक अखबार ने खबर छापी थी कि दिल्ली सरकार का हेल्थ बुलेटिन कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा 68 बता रहा है तब दिल्ली के 5 अस्पतालों में ही 116 कोरोना संक्रमितों की मौत की बात अस्पतालों की रिपोर्ट में आ रही है। वहीं, 12 मई को दिल्ली सरकार की तरफ से जारी किए गए हेल्थ बुलेटिन में 24 घंटे के भीतर 13 मौत का आंकड़ा दिखाया गया है । दिल्ली में अब तक 24 घंटे में दर्ज किया गया यह सबसे बड़ा आंकड़ा है लेकिन स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन का कहना है कि अस्पतालों से जो जानकारी समय पर नहीं आ पा रही थी वह अब आने लगी है जिसके चलते 24 घंटे में 13 मौत की जानकारी मिली है। ये मौतें बीते दिनों में हुई हैं।

दिल्ली के मुख्य सचिव विजय देव के रविवार को जारी पत्र में कहा गया है कि डेथ ऑडिट कमेटी के गठन के समय यह तय किया गया था कि सभी सरकारी और प्राइवेट अस्पताल रोजाना अपने यहां होने वाली मौतों की सही जानकारी कमेटी तक पहुंचाएंगे। लेकिन यह पाया गया है कि अस्पताल अपने यहां होने वाली मौतों की सही जानकारी सही समय पर कमेटी तक नहीं पहुंचा रहे हैं। आंकड़े छिपाने के मामले में सबसे बड़ा अंतर एलएनजेपी अस्पताल के मौत के मामलों में सामने आया था। कथित तौर पर इस अस्पताल में ज्यादा मौत होने के बाद भी रिपोर्ट में कम मौत को दिखाया गया।

दिल्ली में कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी

वहीं, राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस के मामलों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। बीते 24 घंटे में दिल्ली में कोरोना वायरस के 359 मामले रिपोर्ट किए गए हैं। वहीं मंगलवार को कुल 20 नई मौतें रिपोर्ट की गई हैं, जो डेथ समरी के आधार पर दर्ज की गई हैं। इन्हीं ताजा अपडेट के साथ ही दिल्ली में कोरोना वायरस के कुल मामलों की संख्या 8000 के करीब पहुंच गई है।

ALSO READ:  गन्ना किसानों के 3050 करोड़ रुपए हड़प कर गई यूपी की शुगर मिलें

ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.