दिल्ली में फिर बढ़ने लगे कोरोनावायरस के मामले

दिल्ली में कोरोना फिर लगा है डराने, एक दिन में लगाई लंबी छलांग

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

दिल्ली में कोरोना के मामलों में पिछले कुछ हफ्तों से कमी नज़र आ रही थी। इसे देखकर दिल्ली में ऐसा महौल बन गया मानों राजधानी कोरोना महामारी से आज़ाद हो चुकी है। साप्ताहिक बाज़ार को खोलने की अनुमति दे दी गई, होटल खोल दिए गए और मेट्रो खोलने के लिए भी विचार करने को कह दिया गया। दिल्ली वालों तुमने कर दिखाया वाले विज्ञापन तक नज़र आने लगे। रविवार को दिल्ली फिर से डराने लगी जब कोरोनावायरस के 1450 मामले सामने आए। पिछले एक महीने में एक दिन में दिल्ली में Covid-19 केसों की यह सबसे बड़ी छलांग है। इसने एक बार फिर से चिंता बढ़ा दी है कि राजधानी में फिर से संक्रमण बढ़ सकता है।

ALSO READ: SERO SURVEY: 29 फीसदी दिल्ली वाले कोरोना संक्रमित होकर हुए ठीक

delhi coronavirus cases surging again

दिल्ली में कोरोना अब-तक

  • पिछले एक महीने में दिल्ली में कोरोना के मामलों में जिस तरह से कमी देखने को मिली। यह देश में कोविड-19 पर कंट्रोल करने वाला प्रमुख केंद्र बन गया। दिल्ली में पिछले एक महीने में एक तरह से कोरोना के बहुत कम मामले देखने को मिले।
  • दिल्ली में दोबारा मामले बढ़ने की मुख्य वजह कोरोनावायरस के खिलाफ जंग में सुरक्षा प्रोटोकॉल जैसे मास्क नहीं पहनना, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करना और अनलॉक में ज्यादा ढील हो सकती है।
  • दिल्ली के दूसरे सीरो सर्वे में 29.1 फीसदी आबादी में एंटीॉबॉडी  मिले हैं। इसका मतलब है कि दिल्ली की 70 फीसदी से अधिक आबादी संक्रमण के लिए अभी भी संवेदनशील है।
  • रविवार को आए रिकॉर्ड कोरोना केसों से राजधानी में पॉजिटिव केसों की संख्या 161,466 हो गई है। वहीं 16 नई मौतों से मरने वालों का आंकड़ा 4300 पहुंच गया है।
  • राजधानी में 145,000 लोग कोरोनावायरस से रिकवर हो चुके हैं।
  • पिछले सप्ताह में हर दिन औसतन 1269 नए मामले सामने आए हैं। 22 जुलाई के बाद कोविड-19 की यह उच्चतम संख्या है, जब उस वक्त कोरोना के 1,333 औसत मामले सामने आ रहे थे। बीच में एक दिन में केस की संख्या घट कर 600 तक भी आई है ऐसें में अचानक 1400 मामले दोबारा आना सवाल तो खड़े करता ही है।


दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बताया कि कोरोना केसों संख्या में उतार-चढ़ाव देखा गया है, मगर यह निष्कर्ष निकालना पर्याप्त नहीं है कि कोविड-19 के ट्रेंड में बदलाव है। अब तक दिल्ली में कोविड-19 की स्थिति नियंत्रण में है। हर दिन दर्ज मामलों की संख्या को ही सिर्फ नहीं देखा जाना चाहिए। कोरोना से रिकवरी दर, पॉजिटिविटी दर में कमी और मौतों के मामलों में कमी पर भी हमें विचार करना चाहिए। 

-हिंदुस्तान टाईम्स से सत्येंद्र जैन

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।