Home » HOME » Corona: क्या ट्रंप की धमकी से डरे पीएम मोदी? ट्रेंड हुआ #डरपोकमोदी

Corona: क्या ट्रंप की धमकी से डरे पीएम मोदी? ट्रेंड हुआ #डरपोकमोदी

Sharing is Important

न्यूज़ डेस्क, ग्राउंड रिपोर्ट:
नरेंद्र मोदी सरकार ने दो प्रमुख दवाओं, हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन और पेरासिटामोल के सभी मौजूदा ऑर्डरों को क्लियर करने के लिए इन दोनों दवाओं के निर्यात पर प्रतिबंध को आंशिक रूप से हटाने का फैसला किया है। यह कदम अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा दवा की तत्काल आपूर्ति के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अनुरोध करने के दो दिन बाद आया है।विदेश व्यापार महानिदेशालय (डीजीएफटी) ने 25 मार्च को इस दवा के निर्यात पर रोक लगा दी थी। सरकार की तरफ से ये फैसला लेने के बाद, सोशल मीडिया पर #डरपोकमोदी लिखकर लोग पीएम को डरपोक बताने लगे। और अभी ये हैशटैग ट्विटर पर दूसरे नंबर पर ट्रेंड हो रहा है और इसके करीब 26 हज़ार ट्वीट्स हो चुके हैं।

READ:  Europe, Central Asia likely to see 500K deaths by February due to covid

यह भी पढ़ें: Corona : जानिए क्या है केजरीवाल का 5T प्लान ?

वहीँ भारत सरकार के इन दवाओं के फैसले पर सोशल एक्टिविस्ट हंसराज मीणा ने कहा “जीवन रक्षक दवाओं पर पहला अधिकार भारत के लोगों का है ना कि अमेरिकियों का है। ट्रम्प ने आँख दिखाई और मोदी जी डर गये। शर्मनाक।”

यह भी पढ़ें: Corona: आखिर भारत से कोरोना की दवाई क्यों मांग रहा अमेरिका? जानिये…

READ:  Diwali Wishes in Hindi, 10 Best Diwali greetings and status

ट्रम्प ने सोमवार को कहा कि भारत में इन दवाओं पर लगे प्रतिबन्ध से वह अनजान थे और यह निर्णय उन्हें पसंद नहीं आया। जिसके बाद राष्ट्रपति ट्रंप का एक बयान आया जिसमें वह कहते दिख रहे हैं कि भारत अगर बैन नहीं हटाता तो अमरीका इसका करारा जवाब देता।

हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन को किसी भी मेडिकल पर मिलने वाली काफी सस्ती दवा है। हालांकि भारत में इसकी खरीद और उपयोग को गंभीर रूप से प्रतिबंधित किया गया था क्योंकि कोविड-19 के संक्रमण में इसे निवारक दवा बताया गया था।