UP : कानपुर देहात में भीमकथा कर रहे दलितों पर किया गया लाठी-डंडों से हमला, दर्जनों लोग हुए ज़ख्मी

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

ग्राउंड रिपोर्ट | न्यूज़ डेस्क

यूपी के कानपुर देहात के मटंगा गांव में बुद्ध और अंबेडकर की कथा सुन रहे दलितों पर 300 से अधिक सवर्णों ने लाठी-डंडे के साथ हमला कर दिया। साथ ही दलितों के घरों में आग लगाई और लूटपाट की। महिलाओं पर भी लाठी डंडे से हमला किया। इस खूनी संघर्ष से गांव में तनाव फैल गया, दर्जनों लोग घायल हो गए और सभी को अस्पताल में भर्ती कराया गया।

उत्तर प्रदेश के कानपुर देहात में मटंगा गांव के आंबेडकर पार्क में एक से लेकर 8 फरवरी तक अंबेडकर की कथा आयोजन कराया गया था। बताया जा रहा है कि गांव में अंबेडकर की कथा होने से कुछ जाति विशेष के लोगों में नाराज़गी थी। इसी बीच सभा में मामूली कहासुनी के बाद मामला ख़ूनी संघर्ष में बदल गया।

ज़मानत मिलने के बावजूद डॉ. कफील ख़ान की रिहाई के बजाए लगा दी NSA

बताया जा रहा है कि एक खंभे में लगे कार्यक्रम के पोस्टर को किसी ने फाड़ दिया। इस पर आयोजन कराने वाले कुछ लोगों से दूसरे पक्ष के बीच कहासुनी हुई और मामला ख़ूनी संघर्ष में बदल गया गया। गांव के लोगों का आरोप है कि पुलिस मारपीट करने वालों को बचाने में लगी है। पुलिस ने फिलहाल 151 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है।

वहीं इस मामले पर यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने ट्वीट कर लिखा कि – भाजपाई कार्यकर्ताओं के गुंडाराज की एक और शर्मनाक घटना में कानपुर देहात के मांगटा गाँव में दलितों को जमकर पीटा गया जिसमें 23 दलित ज़ख़्मी हुए हैं प्रदेश में पुलिस को अपनी रक्षात्मक भूमिका के विपरीत कार्य करने को बाध्य किया जा रहा है। हम इस लड़ाई में हर क़दम दलितों के साथ हैं ।

ALSO READ:  शिवराज के गढ़ में लोगों को नहीं पता मध्य प्रदेश का मुख्यमंत्री कौन है?

धमकी या महज़ बयान: अर्दोआन ने कहा कश्मीर पाक की तरह तुर्की के लिए भी महत्वपूर्ण

गांव वालों का कहना है कि बुधवार 12 फरवरी को गांव में सवर्ण समाज के लोगों ने एक पार्क में जमा होना शुरू किया। सभी लोग लाठी डंडों के साथ पार्क में जमा हो रहे थे। इसकी भनक जैसे ही बुद्ध और भीम की कथा कर रहे लोगों को लगी तो वे लोग भी जमा होने लगे। तभी सवर्ण समाज के लोगों ने दलितों पर हमला कर दिया। औरतों और बच्चों को भी मारा। घटना में कई लोगों को गंभीर चोटें आई हैं।

प्रियंका गांधी ने भी इस मामले पर योगी सरकार को घेरा और ट्वीट कर लिखा कि- कानपुर देहात के मंगटा गांव में भीमकथा कर रहे दलितों पर दबंगों ने हमला किया। कई लोग अस्पताल में भर्ती हैं।शब्बीरपुर हो, मंगटा की घटना हो भाजपा सरकार ने पीड़ित परिवारों की कोई सुनवाई नहीं की।भाजपा ने संविधान पर हमला बोला हुआ है और अब बाबासाहेब की कथा करने पर भी हमला हो रहा है।

इसके बाद तत्काल एसपी अनुराग वत्स, एडीएम प्रशासन पंकज वर्मा, एएसपी अनूप कुमार, एसडीएम आनंद कुमार सिंह, सीओ संदीप कुमार समेत गजनेर, अकबरपुर, महिला थाना समेत कई थानों का फोर्स पहुंचा। भारी पुलिस बल देख गांव के अधिकांश लोग फरार हो गए। पुलिस ने 26 घायलों को जिला अस्पताल भेजा। चार को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई।

ALSO READ:  MP Elections : मध्य प्रदेश में 75% वोटिंग, 70 से अधिक बूथों पर खराब रहीं EVM, पढ़ें 5 खास बातें

Mumbai : MNS के कार्यकर्ताओं ने बांग्लादेशियों को पकड़ने के लिए चलाया तलाशी अभियान, चेक किए आईडी कार्ड

एसपी अनुराग वत्स ने बताया कि कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया है, गांव में अब स्थिति नियंत्रण में है। एहतियात के तौर पर पुलिस बल तैनात किया गया है। फरार उपद्रवियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम बनाई है। उपद्रवियों पर मुकदमा दर्ज कर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

आप ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@gmail.com पर मेल कर सकते हैं।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.