तमिलनाडु : दलित युवक को भीड़ ने पीटा, हुई मौत

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई के पास विल्लुपुरम में एक पेट्रोल पंप पर काम करने वाले दलित युवक की उस समय पीट-पीटकर हत्या कर दी गई, जब वह सड़क किनारे शौच करने जा रहा था। इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, यह घटना बुधवार की है। इस घटना का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ, जिसमें युवक को प्रताड़ित करती भीड़ देखी जा सकती है। इस वीडियो के वायरल होने के बाद पुलिस ने शुक्रवार को सात लोगों को गिरफ्तार किया। पुलिस का कहना है कि वे इस घटना में अन्य लोगों की भागीदारी की जांच कर रहे हैं।

जामिया हिंसा पर चीफ जस्टिस: कानून हाथ में नहीं ले सकते छात्र

शक्तिवेल पर यह आरोप लगाया जा रहा है कि वह एक महिला को कथित तौर पर अपना यौनांग दिखा रहा था। जिसके चलते लोगों ने उसकी पिटाई कर दी।

पीड़ित शक्तिवेल की बड़ी बहन आर थिवन्नी ने बताया कि शक्तिवेल पर इसलिए हमला किया गया क्योंकि वह दलित था। मामले की जांच कर रहे एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, ‘जिस गांव में आर शक्तिवेल (24) पर हमला हुआ, वहां वनियार्स का वर्चस्व है, जो उत्तरी तमिलनाडु का एक शक्तिशाली ओबीसी समुदाय हैं जो दलितों के साथ दुश्मनी के लिए जाना जाता है।  वहीं, शक्तिवेल अनुसूचित आदि द्रविड़ समुदाय से हैं।’

READ:  Gandhi Jayanti 2020 : महात्मा गांधी की वो 5 बातें जो आपके जीवन को बदल सकती हैं..

VIDEO : जामिया लाइब्रेरी में पुलिस की बर्बरता का CCTV फुटेज अब आया सामने

थिवन्नी ने कहा, ‘मैं अपने एक रिश्तेदार के स्कूटर से अपने छह महीने के बच्चे के साथ बुथूर हिल्स पहुंची। जब हम वहां पहुंचे तो शक्तिवेल खून से लथपथ था, उसके मुंह और नाक से खून बह रहा था और लगभग 15 से 20 लोग उसे घेरे हुए थे। मुझे देखते ही वे लोग उसे और पीटने लगे। मैंने उन्हें रोकने की कोशिश की औऱ मदद की गुहार लगाई लेकिन उन्होंने मुझे लात मारी, जिससे मेरा बच्चा जमीन पर गिर गया। शक्तिवेल बेमुश्किल ही बोल पा रहा था लेकिन उसने मुझे बच्चे के साथ लौट जाने का इशारा किया।’

READ:  नियमों के साथ आज खुल गए धार्मिक स्थल...

थिवन्नी ने कहा, ‘हमने सोचा कि हम पहले घर जाएंगे, वहां से कुछ पैसे लेकर उसे अस्पताल ले जाएंगे लेकिन जब हम घर पहुंचे, मैंने बाइक से उतरने की कोशिश की। इस बीच शक्तिवेल बाइक से जमीन पर गिर गया। वह बेहोश था लेकिन हमें नहीं पता था कि वह मर चुका था। डॉक्टर ने कहा कि अस्पताल पहुंचने से पहले ही उसकी मौत हो गई थी।’

जामिया यूनिवर्सिटी में पुलिस ने जबरन घुसकर छात्रों को पीटा, लाइब्रेरी में दागे आंसू गैस के गोले

विल्लुपुरम के एसपी डी जयकुमार ने कहा कि विस्तृत जांच के बाद ही पता चलेगा कि क्या यह हत्या जाति की वजह से हुई । जयकुमार ने कहा, ‘गंभीर रूप से घायल होने के बाद दिल का दौरा पड़ने से उसकी मौत हो गई। अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारक) अधिनियम और आईपीसी की धारा 302 के तहत मामला दर्ज किया गया है।’

READ:  Assembly Elections: Voting in Tamil Nadu, Kerala on April 6

आप ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@gmail.com पर मेल कर सकते हैं।

Comments are closed.

%d bloggers like this: