Home » राजस्थान : चोरी के शक में दलित युवकों को बांधकर पीटा, गुप्तांग में डाल दिया पेट्रोल

राजस्थान : चोरी के शक में दलित युवकों को बांधकर पीटा, गुप्तांग में डाल दिया पेट्रोल

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

राजस्थान के नागौर से दिल दहलाने वाली ऐसी तस्वीरें सामने आई हैं जो लोगों को सामाजिक व्यवस्था पर विचार करने के लिए मजबूर कर देती हैं। कथित रूप से चोरी करते हुए पकड़े गए दो दलितों की बेरहमी से पिटाई का मामला सामने आया है। घटना की वीडियो सोशल मीडिया पर वाइरल है जिसमें में देखा जा सकता है कि युवक के प्राइवेट अंग में स्क्रू डाइवर डाला जा रहा है। पुलिस ने इस संबंध में 7 लोगों को हिरासत में लिया है। इस वीडियो के आने के बाद एक बार फिर दलित उत्पीड़न को लेकर बहस शुरू हो गई है।

READ:  UPSC Prelims Exam New Date: यूपीएससी की परीक्षा की नई तिथि यहां देखें

ये वीडियो राजस्थान के नागौर जिले का है। पांचौड़ी थाना क्षेत्र के करणु सर्विस सेंटर में दो युवकों पर चोरी करने का आरोप लगाया गया। जिसके बाद सर्विस सेंटर के वर्कर्स ने दोनों को पीटा। मिली जानकारी के अनुसार घीसाराम और पन्नालाल दो दलित युवक राजस्थान के नागौर में एक पेट्रोल पम्प पर पेट्रोल भरवाने आए थे। पेट्रोल भरवाते वक्त इन युवकों के किसी बात को लेकर पेट्रोल पम्प पर मौजूद कर्मियों से कहा सुनी हो गई थी। कर्मियों का आरोप है कि दोनों युवकों ने पम्प के कैश काउंटर से पैसे चुराए थे। इस मामले में केस दर्ज कर लिया है और कार्रवाई की जा रही है। नागौर के ASP राजकुमार के मुताबिक, ये वीडियो 16 फरवरी का है।

READ:  Black Fungus: अब कोरोना के साथ 'ब्लैक फंगस' का भी खतरा, तेजी से बढ़ रहे मामले

पुलिस ने इस मामले में IPC की धारा 342, 323, 341, 143 और SC/ST एक्ट के तहत केस दर्ज किया है। पुलिस द्वारा दर्ज की गई FIR में सात लोगों के नाम सामने आए हैं, इनमें भीम सिंह, ऐदान सिंह, जस्सू सिंह, सवाई सिंह शामिल हैं। इस घटना को अंजाम देने वाले सातों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है, साथ ही निष्पक्ष जांच भी की जा रही है। इस मामले की जांच नागौर ASP राजकुमार, DSP मुकुल शर्मा कर रहे हैं।

READ:  भारत की मदद को आगे आया थाईलैंड, देश में पहुंचाए इतने ऑक्सीजन सिलेंडर और कंसंट्रेटर

राहुल गांधी के इस ट्वीट को भाजपा के आईटी सेल प्रमुख अमित मालवीय ने रिट्वीट करते हुए लिखा कि राज्य सरकार? मुख्यमंत्री गृह मंत्री भी हैं और उनका नाम अशोक गहलोत है। बस इस मामले में आप नहीं जानते हैं कि राज्य में दलितों के खिलाफ क्रूरता के लिए कौन जिम्मेदार है? 

आप ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@gmail.com पर मेल कर सकते हैं।