Dalit burnt-alive-in- in-amethi-uttar-pradesh

उत्तर प्रदेश : अमेठी में दलित प्रधान के पति को जिंदा जलाया, हुई दर्दनाक मौत

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

शायद ही कोई ऐसा दिन गुज़रा हो जब उत्तर प्रदेश से किसी की हत्या की ख़बर न आयी हो या किसी दलित के साथ कोई घटना न हुई हो। उत्तर प्रदेश से एक और दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। अमेठी में गुरुवार रात एक दलित प्रधान के पति को अगवा करके जिंदा जला के मौत के घाट उतार दिया गया।

अमेठी से सांसद स्मृति ईरानी ने इस मामले में दखल दिया और तत्काल कार्रवाई करने को कहा। इसके बाद पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। लखनऊ के ट्रामा सेंटर ले जाते वक्त उनकी मौत हो गई। हत्या के बाद गांव में तनाव है और पुलिस बल तैनात किया गया है।

READ:  Love jihad: Mayawati asks UP government to reconsider new anti-conversion law

Eid-E-Milad 2020 : क्यों मनाया जाता है Eid Milad-Un-Nabi, जानें इस दिन का इतिहास और महत्व

अर्जुन काफी देर तक घर नहीं लौटे तो उनके बेटे सुरेंद्र ने पुलिस में इसकी सूचना दी। रात करीब साढ़े दस बजे अर्जुन ग्रामीण कृष्ण कुमार के अहाते में अधजली हालत में मिले। उन्हें जिला अस्पताल ले जाया गया और आज सुबह उन्हें वहां से लखनऊ के ट्रामा सेंटर रेफर किया गया। रास्ते में ही उनकी मौत हो गई।

पुलिस ने बताया कि घटना मुंशीगंज के बंदोइया गांव की है। यहां ग्राम प्रधान छोटका के पति अर्जुन (40) गुरुवार सुबह घर से निकले थे। परिवार का आरोप है कि गांव के ही केके तिवारी, आशुतोष, राजेश मिश्रा, रवि और संतोष ने उन्हें अगवा कर लिया।

READ:  बेरोज़गार दिवस का असर, योगी सरकार 3 महीने में भरेगी खाली पद

बिना इजाजत कोई नहीं कर पाएगा आपको WhatsApp ग्रुप में एड, करें ये सेटिंग

स्मृति ईरानी ने इस पूरे मामले की जानकारी ली है और जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार करने की बात कही है। एसपी दिनेश सिंह ने बताया कि 5 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। इन्हें जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा।

इसके साथ ही घटना से जुड़ा मृतक का एक ऑडियो भी सामने आया है। इसमें वो उन्हीं लोगों पर खुद को जलाने का आरोप लगा रहे हैं, जिन पर उनके परिवार ने आरोप लगाया है।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

%d bloggers like this: