Skip to content
Home » चंबल : बच्चे को निगल गया मगरमच्छ! गांव वालों ने कर दिया उससे भी भयानक काम : Video

चंबल : बच्चे को निगल गया मगरमच्छ! गांव वालों ने कर दिया उससे भी भयानक काम : Video

Crocodile swallows bo

Crocodile swallows boy : मध्य प्रदेश के श्योपुर में बच्चे को मगरमच्छ के निकले की ख़बर ने सनसनी मचा दी है। 10 वर्षीय बच्चा नहाने चंबल नदी गया था। बचा नहा रहा था तबही उसको एक मगरमच्छ उसे नदी में अंदर खींच ले गया (Crocodile swallows boy)। ग्रामीणों ने बच्चे को पानी में खीचते हुए देख लिया। ग्रामीण नदी से उस मगरमच्छ को पकड़ लाए। उसको रस्सी से बांध दिया और बच्चे को उगलवाने का प्रयास करते रहे। प्रशासन ने समझाने पर उन्होंने मगरमच्छ को नदी में छोड़ दिया।

गांव वाले नदी से मगरमच्छ को पकड़ लाए

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार, सोमवार सुबह चंबल नदी के किनारे पर एक लड़का नहाने गया था, तभी एक मगरमच्छ वहां आ गया और उसे खींच कर नदी के अंदर ले गया (Crocodile swallows boy)। मौके पर मौजूद ग्रामीनों ने घटना देख ली और लाठी-डंडा और जाल लेकर नदी में घुस गए। मगरमच्छ को पकड़कर पानी से बाहर निकाल लाए। पूरी घटना श्योपुर जिले के रघुनाथपुर थाना क्षेत्र में चंबल नदी के किनारे बसे रीझेटा गांव की है।

Crocodile swallows boy

गांव में जैसे ही ये ख़बर फैली की चंबल नदी में नहा रहे एक बच्चे को मगरमच्छ खींच ले गया है। तो ग्रामीण इकठ्ठा होकर पहुंचे। जाल में फंसाकर मगरमच्छ को नदी से बाहर खींच लाए और उसे रस्सी से बांध दिया। उसके मुंह में लकड़ी फंसा दी गई। मज़बूती से बांध कर गांव में रख दिया। घड़ियाल विभाग और पुलिस को घटना की सूचना मिलते गांव पहुंच गए। ग्रामीणों ने उनसे कहा कि मगरमच्छ बच्चे को निगल गया है और वह उसके पेट में है, इसलिए जब तक वह बच्चे को नहीं उगलेगा, वह उसे नहीं छोड़ेंगे।

प्रशासन ने कहा- मगरमच्छ बच्चे को निगल नहीं सकता

प्रशासन और घड़ियाल विभाग ने ग्रामीणों और बच्चे के परिजनों को समझाया कि मगरमच्छ बच्चे पर हमला कर सकता है, लेकिन उसे निगलना संभव नहीं है (Crocodile swallows boy)। लेकिन गांव वाले कहते रहे कि बच्चा इसके पेट में ही है। बच्चे को मगरमच्छ के पेट से निकालने के बाद ही उसे छोड़ने की जिद पर अड़े रहे। काफी देर बाद प्रशासन गांव वालों को समझाने में कामयाब रहा। देर शाम ग्रामीणों ने मगरमच्छ को वापस नदी में छोड़ दिया।

रघुनाथपुर के थाना प्रभारी श्यामवीर सिंह तोमर ने बताया कि बच्चे की तलाश लगातार की जा रही है। वहीं राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल (SDRF) की टीमें भी बच्चे की तलाश में जुटी हैं। प्रशासन और अधिकारी मान कर चल रहे हैं कि अगर मगरमच्छ ने बच्चे पर हमला किया था तो उसने उसे थोड़ा बहुत खाकर छोड़ दिया होगा। बच्चे का अभी तक कोई पता नहीं चल सका है।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

%d bloggers like this: