भयावह: महाराष्ट्र के अहमदनगर में जली एक साथ कई चिताएं

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कोरोना की वजह से देश भर से एक बार फिर कई विचलित करने वाली तस्वीरें सामने आ रही हैं। कहीं एक पलंग पर कई मरीज़ सोए मिलते हैं तो कहीं शव गृह में शवों के अंबार नज़र आते हैं। कोविड की वजह से हो रही मौत का आंकड़ा बढ़ रहा है। इसी के चलते अंतिम संस्कार करने के लिए लोगों को मश्क्कत करनी पड़ रही है। ऐसी ही भयावह तस्वीर महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले से आई है।

अहमदनगर में कोरोना के चलते दम तोड़ चुके 22 मरीज़ों के शवों का एक साथ अंतिम संस्कार किया गया। यहां एक दिन में करीब 42 लोगों का अंतिम संस्कार किया गया है।

अहमदनगर से आ रही तस्वीरें बेहद ही हृदय विदारक हैं

एक साथ इतनी चिताएं जलते देखना एक भयावह मंज़र होता है, ऐसे ही मंज़र देश के कोरोना प्रभावित शहरों से रोज़ आ रहे हैं। महाराष्ट्र का अहमदनगर जिला कोरोना से सबसे अधिक प्रभावित जिलों में से एक है। यहां हर रोज़ दो हजार के ऊपर कोरोना के मामले आ रहे हैं। यहां कुल मरीज़ों की संख्या 1 लाख 9 हज़ार 401 तक पहुंच चुकी है। इसमें 1270 लोगों की मौत हो चुकी है। जिले में बीते 24 घंटों में कोविड से मरने वालों की संख्या 48 तक पहुंच चुकी है। 20 मृतकों के शवों का दाह संस्कार इलेक्ट्रिक मशीन में किया गया है। आपको बता दें कि इस मशीन की क्षमता सिर्फ 20 होने के कारण बाकी लाशों का अंतिम संस्कार सामान्य तरीके से किया गया। जिसकी तस्वीरें आपने देखी।

READ:  Coronavirus, when oxygen support needed: कोरोना वायरस होने पर ऑक्सीजन सपोर्ट की जरूरत कब होती है?

ALSO READ: भारत में होने वाली मौतों के सबसे बड़े कारणों में कहां आता है कोरोना वायरस?

सिर्फ महाराष्ट्र नहीं अन्य जगह भी यही हाल

महाराष्ट्र से तो तकलीफदेह तस्वीरें आ ही रही हैं ऐसी ही तस्वीरें देश के अन्य हिस्सों से भी आ रही हैं। कहीं मरीज़ों को इलाज के लिए बेड नहीं मिल रहे तो कहीं अंतिम संस्कार के लिए टोकन लेकर लंबा इंतज़ार करना पड़ रहा है। मध्यप्रदेश के इंदौर में रेमडिसिवेर के इंजेक्शन की कालाबाज़ारी शुरु हो चुकी है जिसकी वजह से लोगों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।

लगातार बिगड़ते हालात

कोरोना से देश भर में हालात लगातार बिगड़ रहे हैं और लोग अभी भी लापरवाही बरत रहे हैं। कई राज्यों में नाईट कर्फ्यू और वीकएंड लॉकडाउन जैसे कदम उठाए गए हैं लेकिन फिर भी लोग सचेत नहीं दिख रहे। वैक्सीन की कमी की भी बात देश भर से आ रही है और मामलों में बढ़ोतरी पिछले वर्ष से अधिक की ओर जा रही है। यही हालात रहे तो आने वाले 15-20 दिनों में स्थिति और खराब हो जाएगी।

READ:  Oxygen will last 2 hours; 25 patients have died in 24 hrs: Ganga Ram Hospital Director

जनता बेहाल सरकार चुनाव में व्यस्त

जहां एक तरफ कोरोना की वजह से लोग परेशान हैं तो वहीं नेता अपनी चुनावी रैलियों में भारी भीड़ जुटाने में लगे हैं। आज बंगाल में रैली कर रहे बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा से एबीपी न्यूज़ के पत्रकार ने जब यह सवाल किया कि आपकी रैली में कोविड के प्रोटोकॉल का उल्लंघन क्यों हो रहा है तो उन्होंने जवाब दिया कि वो जीत रहे हैं इसलिए मीडिया ऐसा सवाल कर रहा है।

जब देश की सत्तारुढ़ पार्टी के नेता और मंत्री इस तरह कोविड के नियमों का उल्लंघन करेंगे तो जनता से क्या ही उम्मीद की जा सकती है। खैर जनता को समझना होगा कि अगर इन हालातों में उनको कोविड हुआ तो आप मुसीबत में पड़ सकते हैं।

READ:  Lockdown Diary: लॉकडाउन डायरी- डरें या डटें!

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।