Home » देश के 143 ज़िलों में एक भी ICU बेड नहीं : रिपोर्ट

देश के 143 ज़िलों में एक भी ICU बेड नहीं : रिपोर्ट

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

केंद्र सरकार ने बीते रविवार को भारत द्वारा कोरोना वायरस से लड़ने के लिए बुनियादी ढांचे में विशेष रूप से आइसोलेशन बेड, वेंटिलेटर और आईसीयू बेड की कमी को लेकर एक विस्तृत विवरण प्रस्तुत किया । इसके अनुसार उत्तर प्रदेश, बिहार और असम में इन तीनों प्रकार के उपकरणों की भारी कमी वाले जिलों की संख्या सबसे अधिक थी। ये विवरण 23 अप्रैल तक के आंकड़ों पर आधारित है । इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक आंकड़ों के अनुसार देश भर में 183 जिलों में 100 से कम आइसोलेशन बेड हैं और इनमें से 67 जिलों में कोरोनो वायरस संक्रमण मामले हैं। यूपी में 53 जिलों (75 में से) में 100 से कम आइसोलेशन बेड हैं, इनमें से 31 जिलों में कोरोना के मामले सामने आए हैं।

दूसरे नंबर पर बिहार है जहां 38 में से 20 जिलों में 100 से कम आइसोलेशन बेड हैं और इसमें से नौ जिलों में संक्रमण के मामले आए हैं। तीसरे नंबर पर असम राज्य है जहां के 33 जिलों में 100 से कम आइसोलेशन बेड हैं और इसमें से छह जिलों में कोरोना के मामले आए हैं। इस सूची में दूसरे नंबर पर मध्य प्रदेश है जहां के 31 जिलों में एक भी आईसीयू बेड नहीं है और इसमें से 11 जिलों में कोरोना के मरीज हैं. इस मामले में तीसरे नंबर पर बिहार है जहां के 29 जिलों में जीरो आईसीयू बेड है और इसमें से 10 जिलों में कोरोना संक्रमण है।

READ:  अंडरगार्मेंट और चप्पल में लगी चिप से नकल, देखकर उड़े होश

देश के 123 जिलों में जीरो वेंटिलेटर बेड हैं और इसमें से 39 जिलों में कोविड-19 के मामले आए हैं। यहां भी यूपी पहले नंबर है। प्रदेश के 35 जिलों में एक भी वेंटिलेटर बेड नहीं और इसमें से 20 में मामले आए हैं। बिहार और असम के 28 और 17 जिलों में जीरो वेंटिलेटर बेड हैं और इसमें से 10 और तीन जिले में कोरोना के मामले हैं।

आप ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

इंडियन एक्सप्रेस इस ख़बर को विस्तृत रूप से पढ़ा जा सकता है….