documents for corona vaccine

Coronavirus Covid19 Vaccine Updates: देखें आप तक कब पहुंचेगी कोरोना वैक्सीन?

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Coronavirus Covid19 Vaccine Updates: भारत में तेजी से बढ़ते कोरोना वायरस के केसों के बीच एक बार फिर कोरोना वैक्सीन का इंतजार बेसब्री से किया जा रहा है। हर शख्स जानना चाहता है कोरोना वैक्सीन बन जाती है तो उस तक कब पहुंचेगी। आज हम आपको बता रहे हैं कि अगर कोरोना वैक्सीन (Coronavirus Covid19 Vaccine) बन जाती है तो आप तक कब पहुंचेगी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय से मिली जानकारी के मुताबिक, देश में इस समय 5 वैक्सीन अपने प्रोसेस के आखिरी दौर में हैं। इनमें से दो वैक्सीन फरवरी 2021 तक मिलने की संभावना जताई जा रही है। वहीं भारत में ब्रिटेन की ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के साथ मिलकर पुणे स्थित सीरम इंस्टिट्यूट AstraZeneca नाम की कोरोना वैक्सीन (Coronavirus Covid19 Vaccine) कोरोना वायरस से बचाव में 90% असरदार रही है।

Oxford Vaccine: आक्सफोर्ड की कोरोना वैक्सीन 90% कारगर

ऑक्सफोर्ड/एस्ट्राजेनेका ने एक बयान जारी कर कहा है कि यूके और ब्राजील में किए गए परीक्षणों में वैक्सीन (AZD1222) खासी असरदार पाई गई। आधी डोज में दिए जाने पर वैक्सीन 90% तक इफेक्टिव मिली। इसके बाद दूसरे महीने में फुल डोज दिए जाने पर 62% असरदार देखी गई। इसके एक महीने बाद फिर दो फुल डोज में वैक्सीन का असर 70% देखा गया। ये वैक्सीन पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया बना रहा है। भारत में यह वैक्‍सीन ‘कोविशील्‍ड’ नाम से उपलब्‍ध होगी।

READ:  हाथरस गैंगरेप केस: कंगना रनौत को सुरक्षा मिल सकती है तो हाथरस के उस दलित परिवार को क्यों नहीं?

Coronavirus Vaccine: इंतजार की घड़ियां हुईं खत्म, लो बन गई कोरोना वैक्सीन!

आप तक कब पहुंचेगी वैक्सीन?
उम्मीद जताई जा रही है जितना बुरा साल 2020 साबित हुआ है उतना ही खुशहारी भरा 2021 होगा। साल के शुरूआती महीने जनवरी और फरवरी में कोरोना वायरस का टीका तैयार हो जाएगा। देश के फ्रंटलाइन हेल्थ वर्कर्स के लिए अगले साल जनवरी या फरवरी की शुरुआत में कोरोना वायरस का टीका उपलब्‍ध करा सकते हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सरकार की तैयारी सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया (SII) की ऑक्‍सफोर्ड-एस्‍ट्राजेनेका वैक्‍सीन को इमर्जेंसी यूज के लिए अप्रूवल देने की है। SII ने एस्‍ट्राजेनेका के साथ पार्टनरशिप की है। वहीं, देश में बनी कोविड वैक्‍सीन यानी भारत बायोटेक की Covaxin को भी फरवरी तक इमर्जेंसी अप्रूवल जाने की संभावना है। अगर सबकुछ ठीक रहा तो फरवरी 2021 तक देश में कोविड-19 के दो-दो टीके उपलब्‍ध हो सकते हैं। अगर सरकार इसे हरी झंडी देती है तो फरवरी में टीके आने के बाद अगले एक से दो महीने के भीतर आमनागरिकों की पहुंच में होंगे। यानी कोरोना वायरस का टीका आप तक मार्च में पहुंचेगा।

READ:  14 वर्षों में 13 गुना बढ़ गई CM शिवराज की संपत्ति, इतने करोड़ रुपये के मालिक हैं हमारे मुख्यमंत्री

कोरोना वैक्सीन बनने में इतनी देरी क्यों, समझें इसके पीछे का गणित!

दुनियाभर में 212 जगहों पर तैयार किए जा रहे हैं कोरोना वायरस के टीके
विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के मुताबिक, दुनियाभर में कुल 212 जगहों पर कोरोना वायरस की वैक्सीन तैयार की जा रही है। इसमें भारत भी शामिल है। इन 212 में 164 वैक्सीन अभी प्री-क्लीनिकल स्टेज में है। अच्छी बात यह है कि 11 वैक्सीन अंतिम फेज के ट्रायल्स में हैं। इनमें फाइजर-बायोएनटेक और अमेरिका की फार्मास्यूटिकल कंपनी मॉडर्ना ने अपने कोविड- 19 वैक्सीन के ह्यूमन ट्रायल के नतीजे जारी किए हैं। मॉडर्ना वैक्सीन को 94.5% और फाइजर-बायोएनटैक के रिजल्ट 95% फीसदी फायदेमंद देखे गए हैं। उम्मीद जताई जा रही है कि जल्द ही यह कंपनियां अप्रूवल के लिए आवेदन कर सकती है। अगर ऐसा होता है इसी साल के अंत तक इनका प्रोडक्शन शुरू हो जाएगा और कोरोना की वैक्सीन आप तक दिसंबर अंत या जनवरी के शुरूआती दिनों में पहुंच सकती है।

READ:  CM शिवराज का दावा, गरीबों को सस्ती बिजली, कंपनी ने एक ही उपभोक्ता को भेजा अरबों रुपए का बिल!

घर पर ही संभव है कोरोना का इलाज, पर बरतें जरूरी सावधानियां

You can connect with Ground Report on FacebookTwitter and Whatsapp, and mail us at [email protected] to send us your suggestions and writeups.