Home » Coronavirus Vaccine: इंतजार की घड़ियां हुईं खत्म, लो बन गई कोरोना वैक्सीन!

Coronavirus Vaccine: इंतजार की घड़ियां हुईं खत्म, लो बन गई कोरोना वैक्सीन!

World's first needle-free covid vaccine
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Coronavirus Vaccine ”Sputnik V” : दुनिया भर में कोरोना वैक्सीन (coronavirus vaccine) का इंताजर बेसब्री से हो रहा था, लेकिन अब इंतजार की घड़ियां खत्म हो चुकी है क्योंकि कोरना वैक्सीन (coronavirus vaccine) ”Sputnik V” आ चुकी है। रूस ने दुनिया की पहली कोरोना वैक्सीन (coronavirus vaccine) ”Sputnik V” बना लेने का दावा करते हुए मंगलवार को अहम और बड़ी घोषणा की है।

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) ने कोरोना वैक्सीन का ऐलान करते हुए कहा कि उनके देश ने कोरोना वायरस की पहली वैक्सीन (coronavirus vaccine) तैयार कर ली है। रूस की कोरोना वैक्सीन (coronavirus vaccine) ‘स्पूतनिक वी’ के बन जाने के बाद अब बीस से अधिक देशों ने इसकी मांग की है।

रूसी डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड (आरडीआईएफ) के प्रमुख किरिल दमित्रीवे ने बताया कि बीस देशों ने (coronavirus vaccine) वैक्सीन की करोड़ों डोज की मांग की है। किरिल दमित्रीवे ने कहा कि, मांग करने वालों में लैटिन अमेरिकी, मध्य पूर्व और कुछ एशियाई देश शामिल हैं।  कुछ के साथ डील भी हो चुकी है। उन्होंने ये भी कहा कि तीसरे चरण का ट्रायल यूएई और सऊदी अरब समेत अन्य देशों में होगा।

कोरोना वैक्सीन की दौड़, कौन आगे कौन पीछे?

Coronavirus vaccine के तैयार किए जाएंगे 50 करोड़ डोज़

उन्होंने कहा कि, कोरोना वैक्सीन (coronavirus vaccine) के पांच देशों में 50 करोड़ डोज तैयार किए जाएंगे। किरिल ने कहा कि रूस अब विदेशी सहयोगियों की मदद से पांच देशों में हर साल कोरोना वैक्सीन की 50 करोड़ डोज तैयार करेगा। उन्होंने सभी देशों से अपील की कि वे उच्च गुणवत्ता वाली और सुरक्षित वैक्सीन अपने लोगों को लगाकर उनका जीवन बचाने में आगे बढे़ं।

READ:  Shortness of breath can affect Covid patients for a year: Research

सबसे पहले डॉक्टर्स को लगाई जाएगी वैक्सीन

किरिल ने बताया कि, रूस में बनाई गई इस कोरोना वैक्सीन का असर दो साल तक रहेगा। वहीं स्वास्थ्य मंत्री मिखाइल मुरास्खो ने दावा करते हुए कहा कि, जिसे टीका (coronavirus vaccine) लग गया वो दो साल तक कोरोना से पूरी तरह सुरक्षित रहेगा। उप प्रधानमंत्री तात्याना गोविकोवा का कहना है कि डॉक्टरों को ये कोरोना वैक्सीन इसी महीने लगनी शुरू हो जाएगी। गामालेया इंस्टीट्यूट के निदेशक प्रो. एलेक्जेंडर गिंट्सबर्ग ने मई में कहा था, वे और शोधकर्ता कोरोना वैक्सीन का परीक्षण खुद पर कर चुके हैं।

कोरोना की वैक्सीन कब आएगी और इसकी कीमत कितनी होगी?

राष्ट्रपति पुतिन की बेटी को लगाया जा चुका है ये टीका

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की छोटी बेटी कैटरीना (33) को ये (coronavirus vaccine) टीका परीक्षण के शुरुआती दिनों में ही लगाया गया था। टीका लगने के बाद सब कुछ सामन्य था। पुतिन ने बताया कि इस कोरोना वैक्सीन के ट्रायल के दौरान उनकी एक बेटी ने भी हिस्सा लिया। पहले चरण के वैक्सीनेशन के बाद उसके शरीर का तापमान 38 डिग्री सेल्सियस था, जबकि अगले दिन यह 37 डिग्री सेल्सियस हो गया था। (coronavirus vaccine) वैक्सीन ने दूसरे चरण के बाद उसके शरीर का तापमान थोड़ा बढ़ा लेकिन बाद मे सब ठीक हो गया। वह अब अच्छा महसूस कर रही है।

20 करोड़ डोज बनाने की तैयारी

रूसी कोरोना वैक्सीन (coronavirus vaccine) स्पूतनिक वी को लेकर बनाई गई एक वेबसाइट पर दावा किया गया है कि यूएई, सऊदी अरब, इंडोनेशिया, फिलीपींस, ब्राजील, मैक्सिको और भारत ने रूस की वैक्सीन को खरीद रहे हैं। इस वैक्सीन के 20 करोड़ डोज बनाने की तैयारी की जा रही है। इसमें से शुरूआती 3 करोड़ कोरोना कोरोना वैक्सीन (coronavirus vaccine) सिर्फ रूसी लोगों के लिए होगी।

READ:  Back to back resignations : सियासत को लगा ग्रहण, विजय रुपाणी के बाद इस सीएम ने भी दिया इस्तीफा

Corona Vaccine: छटने को है ‘संकट के बादल’, कोरोना वैक्सीन टेस्ट के नतीजों ने जगाई उम्मीद!

भारत में भी होगा इस वैक्सीन का उत्पादन

रूसी कोरोना वैक्सीन परियोजना के लिए फंड मुहैया कराने वाली संस्था रशियन डॉयरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड ने अपने बयान में कहा है कि इस वैक्सीन का उत्पादन भारत, दक्षिण कोरिया, ब्राजील, सऊदी अरब, तुर्की और क्यूबा में किया जाएगा। रूस की ओर से जारी किए गए एक बयान में कहा गया है कि, कोरोना वैक्सीन का बड़े पैमाने पर उत्पादन सितंबर 2020 में शुरू होने की उम्मीद है। भविष्य की योजनाओं में 2020 के अंत तक इस वैक्सीन के 20 करोड़ डोज बनाने का लक्ष्य रखा गया है। अगर सब कुछ सामान्य रहा तो भारत में भी रूस में तैयार की गई ये कोरोना वैक्सीन (coronavirus vaccine) जल्द ही आम लोगों के लिए उपलब्ध होंगी।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।