coronavirus patients recover time

क्या मास्क लगाने से हो सकती है ये गंभीर बीमारी?

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कोरोना वायरस महामारी के चलते मेडिकल मास्क का प्रयोग करना आम बात हो गई है। दुनिया भर में हर रोज़ बढ़ती मौत और संक्रमित लोगों की संख्या को देखते हुए लोग जागरूक हुए हैं और अपनी रोज़मर्रा की ज़िन्दगी में मास्क और सैनिटाइज़र का उपयोग कर रहे हैं।

Jyoti Dubey | New Delhi

हालांकि इस बीच सोशल मीडिया पर वायरल एक पोस्ट में दावा किया जा रहा है कि, लंबे समय तक मास्क का प्रयोग करने से हाइपोक्सिया नाम की बीमारी हो सकती है। हाइपोक्सिया एक ऐसी स्थिति है जिसमे पुरे मानव शरीर या शरीर के एक अंग में पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं पहुंचती है।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस पोस्ट के अनुसार लंबे समय तक मास्क के इस्तेमाल का नतीजा यह होता है कि व्यक्ति अपनी छोड़ी हुई कार्बनडाइऑक्साइड को ही सांस के साथ अंदर लेने लगता है, जिससे स्वास्थय सम्बंधित परेशानियां हो सकती हैं।

सच क्या है?
मास्क के इस्तेमाल से हाइपोक्सिया नहीं होता और ना ही इसका ब्रेन और दिल पर कोई असर पड़ता है। वायरल पोस्ट के दावे पर फिज़ीशियन और नेफ्रॉन इंस्टिट्यूट के चेयरमैन, डॉ संजीव बगाई ने स्पष्ट किया है कि लंबे समय तक भी मास्क का प्रयोग किया जा सकता है और यह पूरी तरह सुरक्षित है।

डॉ संजीव बगाई के अनुसार, मास्क आपको उस संक्रमण से बचाने के लिए है जो खांसी या छींक से निकली ड्रॉप्लेट्स से हो सकता है, लेकिन मास्क ऐसा होना चाहिए जिससे लगाने वाले का दम ना घुटे। सही साइज और सही बनावट वाले मास्क का प्रयोग करना चाहिए। वायरल पोस्ट में N-95 मास्क , सर्जिकल मास्क , या किसी विशेष तरह के मास्क का कोई ज़िक्र नहीं किया गया है।

1 thought on “क्या मास्क लगाने से हो सकती है ये गंभीर बीमारी?”

  1. Pingback: क्या है सेरोलॉजिकल सर्वे, दिल्ली में कैसे कम कर सकता है कोरोना का खतरा?

Comments are closed.