Home » Corona के बैक टू बैक नए वेरिएंट ने दिए विश्व को झटके, नेपाल वैरीएंट से यूरोप में हड़कंप

Corona के बैक टू बैक नए वेरिएंट ने दिए विश्व को झटके, नेपाल वैरीएंट से यूरोप में हड़कंप

Corona Vaccination
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कोरोना के रोज रोज नए वेरिएंट मिलने से लोगों में अधिक तबाही मची दिखाई दे रही है। ऐसे में अलग-अलग देश में कोरोना के अलग-अलग रूप देखने को मिल रहे हैं। इन रूपों को अलग ही अंदाज लोगों में देखने को मिल रहा है। हर तरफ कोरोनावायरस से होने वाली दिक्कतों से हर कोई जूझता नजर आ रहा है।

कोरोमा का एक बार फिर से प्रचंड रूप पुर्तगाल में देखने को मिला है। बताया जा रहा है कि यूरोप में मिलने वाला कोरोना का नया रूप नेपाल वेरिएंट है। हालांकि इस बात पर लोगों को समझाते हुए ब्रिटेन सरकार के वैज्ञानिक सलाहकार ने इस बात से जनता को परिचित कराया है कि नया वेरिएंट वैक्सीनेटेड लोगों के शरीर में भी डर कर सकता है, लेकिन इससे बहुत परेशान होने की जरूरत नहीं है। इसके पीछे का कारण उन्होंने करो ना कि दिन-प्रतिदिन बदलने वाले रूप को बताया है।

ब्रिटेन की बेचैनी

वियतनाम से मिली कोरोनावायरस कारी ने ब्रिटेन की चिंताओं को एक नया रूप दे दिया है। वियतनाम के द्वारा जारी किए गए एक बयान में कहा कि यह नया वेरिएंट बेहद खतरनाक है। ऐसा इसलिए भी है क्योंकि इसका असर वैक्सीनेटेड लोगों में भी देखने को मिल रहा है। ऐसे में लोगों में एक अजीब सी हलचल देखने को मिल रही है।

READ:  पर्यावरण संरक्षण के जुनून ने बनाया ‘ग्रीन कमांडो’

ब्रिटेन के वैज्ञानिकों द्वारा दावा किया गया था कि जुलाई-अगस्त में उनके देश से कोरोना पूरी तरह समाप्त हो जाएगा। देश में टीकाकरण अभियान जून आखिरी तक पूरा कर लिया जाएगा। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ने कई देशों से आने वाले लोगों पर पाबंदी लगा रखी है, लेकिन नए वैरिएंट ने वैज्ञानिकों की चिंता बढ़ा दी है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने दिया नया नाम

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इसे डेल्टा नाम दे दिया है। डब्ल्यूएचओ द्वारा कोरोना के वायरस को अद्भुत रूप में देखा जा रहा है। इसके पीछे का कारण इसके अनेकों वेरिएंट्स है। समय बदलने के साथ ही यह वायरस कई अलग-अलग रूपों में बंट जाता है। अलग-अलग देशों के लिए अलग-अलग वैरीएंट  मिल रहे हैं। इसीलिए इसे भारत  के वैरीएंट को अलग दिखाने के लिए इसे डेल्टा नाम दिया गया।

READ:  Modi govt did not spent any money in vaccine research

नए वेरिएंट को लेकर भारत का रुख

सुनने में यह भी आगे डब्ल्यूएचओ ने भारत के वैरीअंट को अब तक इसका नाम नहीं दिया है लेकिन  सूत्रों के हवाले से मिली खबर में यह स्पष्ट किया गया है कि यह वैरीअंट भारत का ही है। इसकी वजह से भारत सरकार ने इस पर आपत्ति जताई है , और इसकी कड़ी निंदा करते हुए सोशल मीडिया पर एडवाइजरी जारी करते हुए इस कंटेंट को हटाने की भी बात कही है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.