Home » फॉक्स न्यूज़ का दावा चीन की लैब से लीक हुआ कोरोनावायरस, WHO ने डाला पर्दा

फॉक्स न्यूज़ का दावा चीन की लैब से लीक हुआ कोरोनावायरस, WHO ने डाला पर्दा

Coronavirus China Made Virus
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Ground Report | News Desk

कोरोनावायरस से पूरी दुनिया में हाहाकार है, चीन के वुहान शहर से निकले एक वायरस ने पूरी दुनिया को तबाह कर दिया है। विश्व अर्थव्यवस्था संकट के दौर में पहुंच गई है। पूरी दुनिया में लोग घरों में कैद हो कर रह गए हैं। दुनिया अब चीन को संदेह भरी नज़रों से देख रही है। इस बीच एक न्यूज चैनल की रिपोर्ट से पूरी दुनिया में यह चर्चा तेज हो गई है कि क्या सच में चीन के वुहान में लैब से कोरोना वायरस फैला है?  दरअसल, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को फॉक्स न्यूज की उस रिपोर्ट को स्वीकार किया, जिसमें यह दावा किया जा रहा है कि कोरोना वायरस चीन के वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी में काम कर रही एक इंटर्न द्वारा गलती से लीक हो गया होगा था। चीन की इस गलती पर विश्व स्वास्थ्य संगठन शुरु से पर्दा डालने की कोशिश में लगा हुआ है। इसी को देखते हुए डोनाल्ड ट्रंप ने WHO की फंडिंग रोक दी है।

दरअसल, सूत्रों से मिली सूचना के आधार पर फॉक्स न्यूज ने अपनी एक एक्स्क्लूसिव रिपोर्ट में दावा किया है कि यह चमगादड़ के बीच स्वाभाविक रूप से उत्पन्न होने वाला यह कोई बायोवेपन (जैविक हथियार) नहीं है, बल्कि वायरस है, जिसका वुहान प्रयोगशाला में इसका अध्ययन किया जा रहा है। 

फॉक्स न्यूज ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि वायरस का सबसे पहला ट्रांसमिशन चमगादड़ से मानव में हुआ और पहली संक्रमित रोगी इसी लैब में काम करती थी। वुहान शहर में आम लोगों में यह वायरस फैलने से पहले लैब की एक इंटर्न महिला कर्मचारी गलती से संक्रमित हो गई। वुहान वेट बाजार को शुरुआत में इस वायरस के उत्पत्ति स्थल के रूप में पहचाना गया, मगर वहां चमगादड़ कभी नहीं बेचे गए। हालांकि, चीन ने प्रयोगशाला के बजाय वेट बाजार को वायरस फैलाने के लिए दोषी माना है। 

READ:  China clothing brand boycott : बच्चों के कपड़ो में नफरत लिखकर बेच रहा चीन, भारत समेत खुद चीन ने भी किया बॉयकॉट

फॉक्स न्यूज ने कई सूत्रों का हवाला देते हुए कहा कि चीन की सरकार यह दिखाने के लिए वायरस पर अध्ययन कर रहा था कि किसी वायरस को पहचानने या उससे लड़ने में वह अमेरिका के बराबर या ज्यादा सक्षम है।

व्हाइट हाउस के डेली ब्रीफिंग के दौरान बुधवार को डोनाल्ड ट्रंप से प्रश्न पूछते समय फॉक्स न्यूज के रिपोर्टर जॉन रॉबर्ट्स ने दावा किया, ‘कई सूत्र हमें बता रहे हैं कि अमेरिका यह बात मानने को तैयार है कि भले ही कोरोना वायरस प्राकृतिक है, मगर यह वुहान का वायरोलॉजी लैब से निकला है। वहां सुरक्षा नियमों का पालन न करने के कारण एक इंटर्न संक्रमित हो गई थी। उसके बाद उसके संपर्क में आकर उसका बॉयफ्रेंड भी संक्रमित हुआ और बाद में यह वायरस वुहान के वेट मार्केट पहुंचा।’ बता दें कि कोरोना का केंद्र वुहान ही है।

इसके बाद डोनाल्ड ट्रंप ने न तो इस रिपोर्ट के दावों की पुष्टि की और न ही उसका खंडन किया। उन्होंने कहा, ‘हम ऐसी कई कहानियां सुन रहे हैं। हम इस पर देखेंगे। यह जो खतरनाक घटना हुई है हम उसकी विस्तृत जांच कर रहे हैं।’

READ:  Covishield vaccine approved in Britain : ब्रिटेन ने कोविशील्ड को दी मंजूरी, वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट को लेकर अभी भी फंसा दांव

डब्ल्यूएचओ ने चीन की गलती पर डाला पर्दा?

फॉक्स न्यूज चैनल ने कहा कि पहले चीन ने इस महामारी पर पर्दा डालने का प्रयास किया था।चैनल ने दावा किया कि विश्व स्वास्थ्य संगठन भी शुरुआत से इस कोशिश में चीन के साथ था। बता दें कि कोरोना वायरस पूरी दुनिया में हर दिन हजारों लोगों की सांसें छीन रहा है। चीन से निकलकर करीब 200 देशों में फैल चुके इस वायरस ने अब तक 22 लाख लोगों के शरीर में प्रवेश किया है तो 1.50 लाख से अधिक लोगों की जिंदगी छीन चुका है। 

ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।