Home » Jammu Kashmir में औसत से अधिक Corona Vaccination, 4 जिलों में 100% लोगों का टीकाकरण

Jammu Kashmir में औसत से अधिक Corona Vaccination, 4 जिलों में 100% लोगों का टीकाकरण

Corona Vaccination
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Corona Vaccination in Jammu Kashmir: कोरोना वैक्सीनेशन (corona vaccination in Jammu Kashmir) के चलते जहां पूरे देश को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है वहीं जम्मू कश्मीर ने वैक्सिनेशन(vaccination) का एक नया रिकॉर्ड बनाया है। आंकड़ों के अनुसार घाटी में 45 साल से ज्यादा उम्र के 70% लोगों को टीका लग चुका है, जो कि राष्ट्रीय औसत 46% से कहीं अधिक है। Corona Vaccination in Jammu Kashmir)इनमें चार जिले ऐसे हैं, जहां इस उम्र के लोगों में 100%  को टीका लग चुका है। इतना ही नहीं हर जिले में हर मिनट 36 हजार टन ऑक्सीजन भी बनाई जा रही है।

किन किन जिलों में लग गए हैं वैक्सीन के टिके

जम्मू कश्मीर के शोपियां, गादरबल, जम्मू और साबा नामक इन 4 जिलों में 100% वैक्सिनेशन (vaccination) हो चुका है। आंकडों के अनुसार प्रशासन ने 30 मई तक 45 प्लस के 32 लाख लोगों को टीका लगा दिया था, जिनमें से 26 लाख को एक डोज और 6 लाख को दोनों डोज लग चुकी हैं। यह एक तरक्की की ओर सफल कदम है।

Covid19 Vaccine: वैक्सीन लगवाने के बाद इन 8 बातों का ध्यान जरूर रखें

कितने लोगों को लगी है वैक्सीन

जम्मू कश्मीर की घाटी में अभी तक 45 साल से ज्यादा उम्र के 70% लोगों को टीका लग चुका है, जो कि राष्ट्रीय औसत 46% से कहीं अधिक है। इनमें चार जिले ऐसे हैं, जहां इस उम्र के 100% लोगों को टीका लग चुका है।

सभी ने मिलकर किया लोगों को जागरूक

जम्मू-कश्मीर हेल्थ सेक्शन के एक अधिकारी ने बताया कि धार्मिक नेताओं, डॉक्टर, मीडिया और सिविल सोसाइटी सभी ने वैक्सीन के लिए लोगों को प्रेरित किया है। यह किसी अकेले का काम नहीं है सभी ने इसमें अहम भूमिका निभाई है। इन्होंने वैक्सीन को लेकर फैले अनगिनत झूठों को दरकिनार किया और लोगों को सही जानकारी दी। गादरबल की डीएम कृतिका ज्योत्सना बताती हैं कि इस कामयाबी के पीछे हेल्थ केयर वर्कर्स हैं, जिन्होंने घर-घर जाकर लोगों को टीका लगवाने के लिए जागरूक किया है।

READ:  Covid19 Vaccine: वैक्सीन लगवाने के बाद इन 8 बातों का ध्यान जरूर रखें

हर मिनट 36 हजार से अधिक ऑक्सीजन का उत्पादन

सिर्फ वैक्सिनेशन ही नहीं जम्मू कश्मीर ने ऑक्सीजन की कमी को भी खत्म कर दिया है। जम्मू कश्मीर की कुल आबादी 1.3 करोड़ है। प्रशासन ने हर जिले के जिला अस्पताल में हाई फ्लो वाले ऑक्सीजन प्लांट बना दिये हैं। पूरे जम्मू कश्मीर में हर मिनट 36 हजार लीटर ऑक्सीजन बनती है।

ICMR ने बताए कोरोना की तीसरी लहर में लॉकडाउन से बचने के 3 तरीके

अभी तक कितने मामले सामने आए हैं

जम्मू-कश्मीर में अब तक 2,90,465 मामले आए हैं। 3,907 मौतें हुई हैं। अकेले मई में 1,14,382 मामले और 1,624 मौतें हुई हैं। इनमें 72,779 मामले कश्मीर डिवीजन से और 42,203 मामले जम्मू डिवीजन में आए हैं। मई में कश्मीर डिवीजन में 605 और जम्मू में 1,019 मौतें हुई हैं।

18+ उम्र वालों को भी 1 मई से वैक्सिनेशन शुरू

जम्मू कश्मीर में वैक्सिनेशन 16 जनवरी से शुरू हो गया था। वहां सबसे पहले हेल्थ केयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सिनेट किया गया। फ्रंटलाइन वर्कर्स में पुलिस और सेना से जुड़े कर्मी, स्वयंसेवक और श्रीनगर म्युनिसिपल कॉरपोरेशन के सफाई कर्मी शामिल किए जाते हैं। इसके बाद 60 और उससे ज्यादा उम्र के लोगों को वैक्सिनेट किया गया। इसके बाद 45 प्लस को शामिल किया गया। 1 मई से 18 साल से अधिक उम्र वालों के लिए टीकाकरण अभियान शुरू कर दिया गया था।

READ:  This village of Kashmir becomes first to achieve 100% vaccination of adults

अगले 6 महीने में आ सकती है कोरोना की तीसरी लहर

घाटी के एक्सपर्ट्स की साइंटिफिक एडवाइजरी कमेटी ने यह चेतावनी दी है कि हो सकता है शायद अगले 6 महीने में तीसरी लहर की भी शुरुआत हो जाए। कमेटी का कहना है कि अगर सही कदम और कोविड नियमों का पालन नहीं किया गया तो यह लहर जम्मू-कश्मीर के लिए पहले वाली दोनों लहरों की तुलना में ज्यादा खतरनाक हो सकती है। कमेटी ने तीसरी लहर की निगरानी और कड़े कोविड प्रोटोकॉल लागू रहने की बात की है।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप  के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.