Hamid Ansari: पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने राष्ट्रवाद को बताया कोरोना से बड़ी बिमारी

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

पूर्व राष्ट्रपति हामिद अंसारी(Hamid Ansari) ने एक बार फिर विवादित बयान दिया। उन्होंने कहा, कोरोना से पहले देश ‘धार्मिक कट्टरता’ और ‘आक्रामक राष्ट्रवाद’ की महामारी का शिकार हो चुका है। यह बयान उन्होंने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर की नयी किताब ‘द बैटल ऑफ बिलॉन्गिंग’ के डिजिटल कार्यक्रम के मौके पर दिया।

फिर से लॉकडाउन की आहट, कई जगह सख़्ती, इन राज्यों में मंथन जारी

उन्होंने कहा कि आज देश ऐसे ‘प्रकट और अप्रकट’ विचारों एवं विचारधाराओं से खतरे में दिख रहा है जो देश को ‘हम और वो’ में बांटने की कोशिश करती हैं। अंसारी(Hamid Ansari) ने यह भी कहा कि देश “धार्मिक कट्टरता” और “आक्रामक राष्ट्रवाद” का शिकार हो चुका, जबकि इन दोनों के मुकाबले देशप्रेम अधिक सकारात्मक अवधारणा है क्योंकि यह सैन्य और सांस्कृतिक रूप से रक्षात्मक है।

ALSO READ:  What did Hamid Ansari say that created a ruckus

दलितों के बाल काटने पर सैलून मालिक को सुनाया गांव से निकालने का फरमान, 50,000 का जुर्माना भी ठोका

उधर इसी कार्यक्रम में जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूख़ अब्दुल्ला ने कहा, “1947 में हमारे पास मौका था कि हम पाकिस्तान के साथ चले जाते, लेकिन मेरे वालिद और अन्य लोगों ने यही सोचा था कि दो राष्ट्र का सिद्धांत हमारे लिए ठीक नहीं है.”

You can connect with Ground Report on FacebookTwitter and Whatsapp, and mail us at GReport2018@gmail.com to send us your suggestions and writeups.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.