राहुल गांधी फिर से थामें कांग्रेस की कमान: सचिन पायलट

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

राजस्थान के उप मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सचिन पायलट ने राहुल गांधी को फिर से कांग्रेस अध्यक्ष बनाने की मांग को दोहराया है।

राहुल गांधी फिर से करें कांग्रेस पार्टी का नेतृत्व

गुरुवार को प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में मिडिया से बात करते हुए पायलट ने बताया कि राहुल गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष बनाने को लेकर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने प्रस्ताव पारित किया है। उन्होंने कहा कि, ‘राहुल गांधी हर वर्ग के व्यक्ति का भला चाहते हैं, कांग्रेस कार्यकर्ता और नेता चाहते हैं कि राहुल गांधी फिर से कांग्रेस का नेतृत्व करें। पिछले कार्यकाल में भी उन्होंने पार्टी को मजबूत करने की दिशा में कई अहम कदम उठाए थे। उनके अध्यक्ष बनने से पार्टी में नए जोश और उत्साह का संचार होगा’। बता दें कि लोकसभा चुनाव में हार के बाद उन्होंने अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया था।

शहीदों को दी गई श्रद्धांजलि

आज कांग्रेस कमेटी द्वारा लद्दाख की गलवान घाटी में शहीद हुए देश के वीर जवानों को श्रद्धांजलि स्वरुप की गई। सुबह 11 बजे से दोपहर 1 बजे तक श्रद्धांजलि कार्यक्रम आयोजित किया गया। प्रदेशभर में जिला और ब्लॉक स्तर पर यह ‘शहीदों को सलाम’ दिवस के रूप में मनाया गया। जयपुर में शहीद स्मारक पर आयोजित कार्यक्रम में मुख्य मंत्री अशोक गेहलोत से ले कर सरकार के मंत्री, विधायक और पार्टी पदाधिकारी मौजूद थे। इस दौरान सोशल डिस्टन्सिंग को फॉलो किया गया और बिना किसी नारेबाजी के कार्यक्रम आयोजित किया गया।

बढ़ती पेट्रोल और डीजल की कीमतों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन

सचिन पायलट ने बताया कि 29 जून को बढ़ती पेट्रोल और डीजल की कीमतों के विरोध में पार्टी जिला स्तर पर प्रदर्शन करेगी।

राजस्थान में गहलोत की राजनीती

वहीं, राजस्थान कांग्रेस में संघर्ष तेज़ होता जा रहा है। वैसे तो जब कांग्रेस राजस्थान में पौने दो साल पूर्व सत्ता में आई थी तभी से मुख्य मंत्री अशोक गेहलोत और उप मुख्यमंत्री व प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सचिन पायलट के बीच खींचतान जारी है लेकिन पिछले कुछ समय से यह खींचतान ज्यादा हो गई है। गेहलोत खेमा पार्टी में ‘एक व्यक्ति एक पद’ सिद्धांत लागू करने की बात कर रहा है। गहलोत खेमा इस बात को कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी तक यह बात पहुँचाने का प्रयास कर रहा है। गेहलोत समर्थकों का कहना है की पायलट पिछले साढ़े 6 सालों से प्रदेश कमेटी के अध्यक्ष हैं और बीते पौने दो सालों से उप मुख्यमंत्री भी हैं ऐसे में उन्होंने एक पद छोड़ना चाहिए।

इसी बीच, मंगलवार को मीडिया से बात करने के दौरान सचिन पायलट ने कहा कि,’मैं प्रदेश कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष पद पर बना रहूं या नहीं रहूं इसका फैसला कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी करेंगी’। पायलट ने कहा कि राजनीती में कब क्या होगा इसके बारे में कुछ कहा नहीं जा सकता, जिसका जहाँ उपयोग लेना है, चाहे सरकार हो या संगठन इसका फैसला कांग्रेस हाईकमान करता है। सीएम अशोक गेहलोत द्वारा की जा रही राजनीतिक नियुक्तियों के बारे में सवाल पूछने पर पायलट ने कहा कि कोआर्डिनेशन कमेटी (Coordination Committee) के माध्यम से राजनीतिक नियुक्तियां होंगी। मंत्री मंडल में फेर बदल से ले कर सभी निर्णय सत्ता और संगठन मिल कर करेगी।