मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने ख़रीदा 60 करोड़ का विमान

MP : बेरोज़गारी और कोरोना से निपटने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज ने ख़रीदा 60 करोड़ का विमान

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

शिवराज सरकार ने दुनिया के बेहतरीन बिजनेस क्लास प्लेन में शुमार बीच क्राफ्ट किंग एयर बी-200 जीटी को खरीदा है। मंगलवार की शाम यह प्लेन भोपाल स्थित स्टेट हैंगर में पहुंच गया है। जल्द ही कागजी प्रक्रियाओं को पूरा कर इसे सरकारी बेड़े में शामिल कर लिया जाएगा। यह विमान तमाम अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस है। सरकार ने पुराने विमान को 8 करोड़ में बेच कर इसे खरीदा है।

कोरोना से त्रस्त MP की जनता

मध्य प्रदेश में कोरोना का कहर बहुत तेज़ी बढ़ता जा रहा है। राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या 54421 तक पहुंच गई है। बीते 24 घंटे में 1292 नए केस सामने आए। अब तक 41231 संक्रमित ठीक हो चुके हैं, जबकि 1246 की मौत हो चुकी है। प्रदेश में एक्टिव केस 11944 हो गए हैं।

बीते 24 घंटे में इंदौर में सबसे ज्यादा 4 कोरोना संक्रमितों ने दम तोड़ दिया। भोपाल और ग्वालियर समेत 13 जेलों में 1-1 मौत हुई। अब तक प्रदेश में 1246 पॉजिटिव दम तोड़ चुके हैं। राजधानी भोपाल में मंगलवार को भी एक बार 135 नए केस सामने आए हैं।

ALSO READ: भारतीय रेल: कब दोबारा पटरी पर लौटेंगी नियमित ट्रेनें?

वहीं दूसरी ओर सूबे के मुखिया शिवराज सिंह चौहान ऐसे माहौल में जब प्रदेश की जनता भुखमरी-बेरोज़गारी से परेशान है। प्रदेश में स्वास्थ सेवाएं लचर हालत में हैं, तब ऐसे में प्रदेश के मुखिया ने अपने लिए 60 करोड़ का प्लेन खरीद रहे हैं।

नेता जी का 60 करोड़ का विमान

लॉकडाउन के दौरान चार लाख 82 हजार से ज्यादा मजदूर मध्य प्रदेश लौटे थे । एक लाख 44 हजार मजदूर ट्रेन और तीन लाख 38 हजार बसों के माध्यम से वापस जान जोखिम में डालकर घर लौटे थे। प्रतिदिन विभिन्न प्रदेशों से मध्य प्रदेश की सीमा में 20 से 25 हजार लोग पैदल गुज़रे थे।

इतनी बड़ी संख्या में प्रदेश वापस वौटे मज़दूर आज रोज़गार के संकट के जूझ रहे हैं। बढ़ती बेरोज़गारी ने प्रदेश में एक बड़ी समस्या खड़ी कर दी है। ऐसे में सरकार का सारा ध्यान आने वाले उप चुनाव की तरफ लगा है न कि प्रदेश की जनता की बढ़ती समस्याओं की तरफ।ऐसे में सूबे के मुखिया जनता के पैसों से अपने लिए 60 करोड़ का विमान खरीद़ कर प्रदेश की जनता की गरीबी का मज़ाक उड़ाया है।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।