CJI एनवी रमना बोले- CBI ने इस कारण खो दी अपनी क्रेडिबिलिटी !

चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया यानी देश की सबसे बड़ी अदालत का सबसे बड़ा जज। वर्तमान CJI  एनवी रमना ने  CBI को लेकर जो बात कही। वो इस देश की जांस एजेंसियों के शायद ही कभी किसी इतने बड़े पद पर बैठे व्यक्ति ने बोलीं हों।

CJI एनवी रमना बोले कि CBI ने अपनी क्रेडिबिलिटी खो दी है। उन्होंने कहा कि CBI को फिर से पब्लिक ट्रस्ट हासिल करने पर ध्यान देना चाहिए। जस्टिस रमना ने शुक्रवार को कहा, ‘अगर आपको फिर से क्रेडिबिलिटी हासिल करनी है, तो सबसे पहले राजनेताओं से गठजोड़ तोड़ना होगा और साख वापसी के लिए फिर से काम करना होगा।’

ख़बर के मुताबिक ‘लोकतंत्र में जांच एजेंसी की भूमिका और जिम्मेदारी’ विषय पर लेक्चर के दौरान चीफ जस्टिस ने कहा, ‘वक्त के साथ पॉलिटिकल एग्जीक्यूटिव बदलते रहेंगे, लेकिन आप (CBI) परमानेंट हैं।’ CJI ने भारत में पुलिस सिस्टम पर भी टिप्पणी की। उन्होंने कहा कि पुलिस की वर्किंग स्टाइल आज भी ब्रिटिश जमाने जैसी है। इसे बदलने की ज़रूरत है।

CBI सहित सभी जांच एजेंसियों को एक छत के नीचे लाने की ज़रूरत

चीफ जस्टिस ने कहा कि CBI सहित सभी जांच एजेंसियों को एक छत के नीचे लाने की जरूरत है और इसके लिए एक स्वायत्त (ऑटोनॉमस) जांच एजेंसी बननी चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि इसकी जिम्मेदारी एक इंडिपेंडेंट पर्सन को दी जानी चाहिए।

सीजेआई ने कहा, भ्रष्टाचार के आरोपों के कारण पुलिस की छवि को गहरा धक्का लगा है। अक्सर पुलिस अधिकारी हमारे पास आते हैं और शिकायत करते हैं कि सरकारों में बदलाव के साथ उन्हें परेशान किया जा रहा है। लेकिन आपको याद रखना होगा कि जनप्रतिनिधि समय के साथ बदलते रहते हैं, लेकिन आप स्थायी हैं।

सीजेआई बोले, आपके मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य पर ध्यान देने की जरूरत है। कानूनी संस्थाओं में महिलाओं की अधिक उपस्थिति की मेरी इच्छा सभी संस्थाओं के लिए सच है और इस प्रकार आपराधिक न्याय प्रणाली में अधिक महिला प्रतिनिधित्व की आवश्यकता है

You can connect with Ground Report on FacebookTwitterInstagram, and Whatsapp and Subscribe to our YouTube channel. For suggestions and writeups mail us at GReport2018@gmail.com 

Also Read