पंजाब में नहीं लागू होगा नागरिकता संशोधन विधेयक : कैप्टन अमरिंदर

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

ग्राउंड रिपोर्ट | न्यूज़ डेस्क

शनिवार को नई दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम में कैप्टन अमरिंदर सिंह ने नागरिकता संशोधन विधेयक और नेशनल रजिस्टर फॉर सिटिजन यानी एनआरसी दोनों को ही गलत बताया। उन्होंने कहा कि वह इसका विरोध करते हैं।

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने नागरिकता संशोधन विधेयक का विरोध किया है। कैप्टन का कहना है कि नागरिकता संसोधन विधेयक भारत की लोकतांत्रिक भावना के खिलाफ है इसलिए वह इसका विरोध करते हैं। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने नागरिकता संशोधन विधेयक और नेशनल रजिस्टर फॉर सिटिजन यानी एनआरसी दोनों को ही गलत बताया।

READ:  Alarming rise in Covid wave in Delhi: 17282 cases in a day, 104 dead

नागरिकता संशोधन विधेयक लोकतंत्र की भावना के विपरीत है : कैप्टन अमरिंदर

कैप्टन ने कहा कि पंजाब किसी हालत में नागरिकता संशोधन विधेयक को मंजूर नहीं करेगा, क्योंकि यह भी एनआरसी की तरह लोकतंत्र की भावना के विपरीत है। उन्होंने कहा कि पंजाब में इसे लागू नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा, ‘प्रस्तावित नागरिकता संशोधन विधेयक को पास होकर हमारी दो तिहाई बहुमत वाली विधानसभा में आने दीजिए । यह हमारे प्रदेश में नहीं लागू होगा’।

कैप्टन अमरिंदर ने जहां एनआरसी और नागरिकता संशोधन विधेयक का विरोध किया वहीं उन्होंने पुलिस एनकाउंटर पर सीधा जवाब नहीं दिया। उनका कहना कि कानून के दायरे से बाहर जाकर पुलिस को कार्रवाई नहीं करनी चाहिए। उन्होंने कहा, ‘मैं कानून के दायरे से बाहर पुलिस कार्रवाई का विरोध करता हूं।’ हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि पुलिस आत्मरक्षा में एनकाउंटर कर सकती है। उन्होंने कहा कि यदि पुलिस पर हमला होता है तो पुलिस को उसका जवाब देने का हक है।