choreographer Saroj Khan 71 dies of cardiac arrest in Mumbai

मशहूर कोरियाग्राफर सरोज खान का निधन

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

मशहूर कोरियोग्राफर सरोज खान का निधन हो गया है। सरोज खान को सांस लेने में दिक्कत हो रही थी जिसके बाद उन्हें गुरूनानक अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इलाज के दौरान गुरुवार देर रात 1.52 बजे कार्डियक अरेस्ट के चलते सरोज खान की मौत हो गई। कुछ दिन पहले ही सरोज खान का कोरोना टेस्ट भी कराया गया था जो निगेटिव आया था। सरोज खान 72 साल की थीं। उन्होंने माधुरी दीक्षित और श्रीदेवी सहित बॉलीवुड के कई कलाकारों को डांस सिखाया। तमाम फिल्मों में कोरियोग्राफी की।

बता दें कि बीती 20 जून को सांस लेने में तकलीफ के बाद सरोज खान को मुंबई के गुरुनानक अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां उनकी तबीयत में सुधार हो रहा था। लेकिन गुरुवार रात उनकी तबीयत अचानक बिगड़ी और उनका निधन हो गया। शुक्रवार को मलाड के मालवाणी कब्रिस्तान में उनका पार्थिक शरीर सुपुर्द-ए-खाक किया जाएगा।

सरोज खान सैकड़ों गानों को कोरियाग्राफ कर चुकी हैं। कम ही लोगों को पता है कि सरोज खान का असली नाम निर्मला नागपाल था। सरोज के पिता किशनचंद सद्धू सिंह और माँ नोनी सद्धू सिंह विभाजन के बाद अपने परिवार के साथ पाकिस्तान से भारत आ गए थे।

सरोज ने महज तीन साल की उम्र में बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट फिल्मों में काम करना शुरू कर दिया था। उनकी पहली फिल्म नजराना थी जिसमें उन्होंने श्यामा नाम की बच्ची का किरदार निभाया था। 50 के दशक में सरोज खान ने बतौर बैकग्राउंड डांसर काम करना शुरू कर दिया था।

उन्होंने कोरियोग्राफर बी.सोहनलाल के साथ ट्रेनिंग ली। 1974 में रिलीज हुई फिल्म गीता मेरा नाम से सरोज खान एक स्वतंत्र कोरियोग्राफर की तरह जुड़ीं हालांकि उनके काम को काफी समय बाद पहचान मिली। सरोज खान की मुख्य फिल्मों में मिस्टर इंडिया, नगीना, चांदनी, तेजाब, थानेदार और बेटा हैं।