चिराग़ पासवान LJP

चिराग पासवान की नई चाल से बिहार में बेनक़ाब हुई बीजेपी?

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

बिहार में चिराग फैक्टर हर दिन नए ट्विस्ट लेकर आ रहा है। अब तक यह नहीं पता चला है कि आखिर चिराग पासवान किस नांव की सवारी कर रहे हैं। 140 से ज़्यादा सीट पर उम्मीदवार उतारने वाले चिराग पासवान बिहार चुनाव में खुद को महत्तवपूर्ण साबित करने की हर कोशिश कर रहे हैं। हालांकि राजनीतिक पंडित और अब तक आए ओपीनियन पोल पर नज़र डालें तो लोजपा को 5-6 सीटों से ज्यादा नहीं मिलने वाली। चिराग पासवान बिहार में अकेले चुनाव लड़ रहे हैं। केंद्र में वो भाजपा के सहयोगी हैं लेकिन बिहार में उन्होंने अकेले चुनव लड़ने का फैसला किया है। चिराग पासवान नीतीश कुमार को गद्दाी से उतारना चाहते हैं तो वहीं भाजपा नीतीश को ही गद्दी पर बैठाना चाहती है।

ALSO READ:  बिहार चुनाव : पहले चरण में इन बूथों पर वोट बहिष्कार, एक वोट भी नहीं पड़ सका

ALSO READ: बिहार चुनाव में BJP-LJP की ‘सांठगांठ’ पर जेपी नड्डा की सफाई, चिराग को लेकर कही ये बात

चिराग पासवान की नई चाल

चिराग ने अपने वोटरों से अपील की है कि वे जहां भी लोजपा के प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं उन सभी सीटों पर लोजपा को वोट करें और जहां लोजपा का उम्मीदवार नहीं है वहां बीजेपी को वोट करें। आने वाली सरकार नीतीश मुक्त सरकार होगी।

ऐसा करके चिराग सीधी लड़ाई नीतीश कुमार के साथ लड़ना चाह रहे हैं। चिराग चाहते हैं कि हंग एसेंबली की स्थिति में वो किंगमेकर की भूमिका अदा कर सकें। अगर भाजपा को जदयू से बेहतर सीटें मिलती हैं और लोजपा बिहार में अच्छा करती है तो दोनो मिलकर बिना नीतीश के सरकार बना सकते हैं। हालांकि ऐसा होना संभव नहीं लगता। इस चाल से चिराग पासवान अपनी पार्टी के लिए ज्यादा से ज्यादा वोट हासिल करना चाहते हैं ।

ALSO READ:  बिहार चुनाव में वैक्सीन का वादा कर कैसे भाजपा ने भारत को तोड़ने की कोशिश की है?

ALSO READ: नीतीश से लेकर तेजस्वी, पप्पू यादव से लेकर पुष्पम प्रिया तक, बिहार चुनाव का पूरा गणित एक क्लिक में

चिराग किसकी बी टीम

चिराग का भाजपा के प्रति एकतरफा प्यार भाजपा को अब असहज करने लगा है। चिराग गठबंधन में न होने के बावजूद खुलेआम भाजपा के प्रति प्यार का इज़हार कर रहे हैं और नीतीश पर हमला कर रहे हैं। भाजपा नीतीश के ही कंधे पर बैठकर बिहार चुनाव लड़ना चाहती है, पार्टी की ओर से यह तक कह दिया गया है कि अगर जदयू की सीटें भाजपा से कम भी रही तो भी नीतीश ही सीएम होंगे। चिराग पासवान से दूरी दिखाने के लिए अब भाजपा वाले उनपर तेजस्वी के साथ सांठगांठ का भी आरोप लगा रहे हैं। हालांकि इस चुनाव चिराग तेजस्वी के प्रति हमलावर भी नहीं दिखते न ही तेजस्वी ने चिराग पर कुछ बोला है।

ALSO READ:  Nitish Kumar to take oath today, suspense over Deputy CM

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।