मसूद अज़हर प्रस्ताव पर चीन लगाए अड़ंगा, तो भारत सरकार चीन को आतंकवाद पोषक देश घोषित करे

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

ग्राउंड रिपोर्ट। न्यूज़ डेस्क।

मसूद अज़हर को संयुक्त राष्ट्र में वैश्विक आतंकी घोषित करने के मामले में चीन का रुख आज साफ हो जाएगा । अगर इस प्रस्ताव पर आज कोई देश अड़ंगा नही लागाता है तो मसूद अज़हर वैश्विक आतंकी घोषित हो जाएगा।

संयुक्त राष्ट्र में कई बार भारत मसूद अज़हर के खिलाफ प्रस्ताव ला चुका है लेकिन हर बार चीन का अड़ंगा भारत के कदम में रोड़ा बनता रहा है। चीन इस प्रस्ताव को तीन बार वीटो कर चुका है। इस बार दुनिया के कई देश भारत के साथ खड़े हैं। केवल चीन ने ही अभी तक इस प्रस्ताव पर अपना रुख स्पष्ट नहीं किया है।

पूरी दुनिया के लिए आतंकवाद बड़ी चुनौती है ऐसे में मसूद अज़हर जैसे आतंकवादियों को केवल अपने कूटनीतिक रिश्तों के लिए संरक्षण देने का चीन का कदम घातक साबित हो सकता है। अगर इस बार भी चीन आतंकवादी को संरक्षण देता है, तो भारत चीन को आतंकवाद पोषक देश घोषित करे। जिस तरह से पुलवामा हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान को कड़ा जवाब दिया उसी तरह अब दूसरे देश जो भारत के हितों में अड़ंगा है, को भी कड़ा संदेश देना ज़रुरी है।

वैश्विक आतंकी घोषित करने के मायने  
संयुक्त राष्ट्र संघ के किसी भी सदस्य देश की यात्रा पर रोक लग जाएगी ।उसकी सारी चल-अचल संपत्ति फ्रीज कर दी जाएगी ।संयुक्त राष्ट्र से जुड़े देश के लोग किसी तरह की मदद नहीं दे सकेंगे
और कोई भी देश मसूद को हथियार मुहैया नहीं करा सकेगा