chhath puja 2020

जानिए क्यों होती है छठ पूजा?

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

छठ पूजा पूरे देश में धूमधाम से मनाया जाता है। छठ पूजा चार दिन तक चलती है। सूर्य देव की आराधना और संतान के सुखी जीवन की कामना के लिए समर्पित ये हर वर्ष का​र्तिक मास के शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि को होती है।

छठ पूजा का प्रारंभ दो दिन पूर्व चतुर्थी तिथि को नहाय खाय से होता है, फिर पंचमी को लोहंडा और खरना होता है। उसके बाद षष्ठी तिथि को छठ पूजा होती है, जिसमें सूर्य देव को शाम का अर्घ्य अर्पित किया जाता है। इसके बाद अगले दिन सप्तमी को सूर्योदय के समय में उगते हुए सूर्य को अर्घ्य देते हैं और फिर पारण करके व्रत को पूरा किया जाता है।

READ:  Diwali 2020: दिवाली पर क्या है लक्ष्मी पूजा का महत्व और कौन सी कथा है प्रचलित?

दोबारा कोरोना होने की कितनी है संभावना?

क्यों मनाते हैं छठ पर्व

पुराण में छठ के पीछे की कहानी राजा प्रियंवद को लेकर है। कहते हैं राजा प्रियंवद की कोई संतान नहीं थी। तब महर्षि कश्यप ने पुत्र की प्राप्ति के लिए यज्ञ कराकर प्रियंवद की पत्नी मालिनी को आहुति के लिए बनाई गई खीर दी। इससे उन्हें पुत्र की प्राप्ति हुई लेकिन वह पुत्र मरा हुआ पैदा हुआ। प्रियंवद पुत्र को लेकर श्मशान गए और पुत्र वियोग में प्राण त्यागने लगे। उसी वक्त भगवान की मानस पुत्री देवसेना प्रकट हुईं और उन्होंने राजा से कहा कि क्योंकि वह सृष्टि की मूल प्रवृति के छठे अंश से उत्पन्न हुई हैं, इसी कारण वो षष्ठी कहलातीं हैं। उन्होंने राजा को उनकी पूजा करने और दूसरों को पूजा के लिए प्रेरित करने को कहा।

READ:  Karwa Chauth 2020: क्यों और कैसे मनाया जाता है करवा चौथ?

ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।