CBSE Exam: कोरोना के चलते 10वीं और 12वीं बोर्ड एग्जाम रद्द

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Covid-19 के परिस्थिति को मद्देनजर रखते हुए केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने 10वीं और 12वीं की बची हुई परीक्षाओं को रद्द करने का निर्णय लिया है। बृहस्पतिवार को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) की सुनवाई के दौरान, CBSE ने कोर्ट को इस निर्णय की जानकारी दी थी। वहीं सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को CBSE को अधिसूचना जारी करने की अनुमति दी।

कोरोना वायरस की महामरी के कारण, CBSE को कुछ विषयों की परीक्षा आयोजित करनी पड़ी थी। CBSE ने 10वीं और 12वीं की बची हुई यह परीक्षा 1 जुलाई से 15 जुलाई के बीच निर्धारित करने की सुचना दी थी। इसके लिए विस्तृत डेटशीट भी जारी कर दी गई थी। जिसके बाद CBSE से जुड़े छात्रों और उनके माता-पिता ने सुप्रीम कोर्ट से लंबित परीक्षाओं को रद्द करने की अपील की थी।

सुप्रीम कोर्ट ने CBSE को असेसमेंट स्कीम (Assessment Scheme) पर अधिसूचना जारी करने के लिए निर्देश दिया था। CBSE ने कहा कि जुलाई में रद्द परीक्षा के लिए असेसमेंट स्कीम पर अपनी अधिसूचना को संशोधित कर दिया है। आदेश सुनाते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि, कोर्ट CBSE की असेसमेंट स्कीम से सहमत है।

CBSE की असेसमेंट स्कीम के अनुसार, इस स्कीम के आधार पर रिजल्ट 15 जुलाई तक घोषित कर दिए जायेंगे ताकि छात्र भारत और विदेश में उच्चतर शिक्षा संस्थानों में एडमिशन के लिए आवेदन कर सकें। हालांकि, स्थिति अनुकूल होने पर CBSE 12वीं कक्षा के बची हुई परीक्षाओं के लिए एक वैकल्पिक परीक्षा आयोजित करेगी। जिन छात्रों का रिजल्ट असेसमेंट स्कीम के आधार पर घोषित किया जाएगा, उन्हें अपने परफॉरमेंस में सुधार करने के लिए वैकल्पिक परीक्षाओं में उपस्थित होने की अनुमति दी जाएगी, यदि वे ऐसा चाहते हैं।

10वीं कक्षा के छात्रों के लिए, आगे कोई परीक्षा आयोजित नहीं की जाएगी और असेसमेंट स्कीम के आधार पर CBSE द्वारा घोषित परिणाम को अंतिम माना जाएगा।

असेसमेंट स्कीम (Assessment Scheme)
CBSE अधिसूचना के अनुसार, 10वीं और 12वीं के जो छात्र अपने सभी परीक्षा पूरी कर चुके थे, उनके रिजल्ट परीक्षा के परफॉरमेंस के आधार पर घोषित किए जाएंगे। 3 से अधिक विषयों के परीक्षाओं में उपस्थित होने वाले छात्र का रिजल्ट 3 सर्वश्रेष्ठ परफॉरमेंस करने वाले विषयों के एवरेज मार्क्स (Average Marks), उन विषयों में प्रदान किया जाएगा जिनकी परीक्षाएं आयोजित नहीं की गई हैं।

केवल 3 विषयों के परीक्षाओं में उपस्थित होने वाले छात्र के लिए, 2 सर्वश्रेष्ठ परफॉरमेंस करने वाले विषयों के एवरेज मार्क्स, उन विषयों में दिए जायेंगे जिनकी परीक्षा आयोजित होना बाकि है।
कुछ छात्र ऐसे भी है जो केवल 1 या 2 विषयों के परिक्षाओं में शामिल हुए हैं। उनका रिजल्ट दिए गए विषयों के परफॉरमेंस और इंटरनल / प्रैक्टिकल / प्रोजेक्ट असेसमेंट के परफॉरमेंस के आधार पर घोषित किए जाएंगे।

छात्रों के इच्छा अनुसार उन्हें अपने परफॉरमेंस में सुधार के लिए CBSE द्वारा आयोजित वैकल्पिक परीक्षाओं में उपस्थित होने की अनुमति दी जाएगी। यह वैकल्पिक परीक्षा कोरोना महामारी की स्थिति में सुधार और स्थायी होने के बाद आयोजित किया जायेगा।

CBSE के साथ ही भारतीय स्कूल सर्टिफिकेट परीक्षा (ICSE) ने भी 10वीं और 12वीं की बची हुई परीक्षाओं को रद्द करने का निर्णय लिया है पर फिर से परीक्षा का कोई विकल्प नहीं होगा। जहाँ ICSE ने CBSE के परीक्षाओं को रद्द करने के निर्णय के साथ सेहमति दिखाई, वहीं ICSE ने कहा कि इसकी असेसमेंट स्कीम CBSE के स्कीम से थोड़ी अलग होगी। इसकी अस्सेस्मेंट स्कीम की अधिसूचि ICSE के वेबसाइट पर एक सप्ताह में अपलोड करदी जाएगी। CBSE और ICSE बोर्ड रिजल्ट जुलाई के मध्य तक घोषित किए जायेंगे।