Uttar Pradesh

UP Board exam 2021 why so much delay

UP Board exam 2021: कब और कैसे होंगी हाईस्कूल-इंटरमीडिएट परीक्षाएं

UP Board exam 2021: 10वीं 12वीं की परीक्षा अप्रैल से पहले शुरू होने के आसार नहीं दिख रहे हैं। इसका कारण केंद्र निर्धारण न हो पाना माना जा रहा है। शिक्षा विभाग ने मार्च अप्रैल में बोर्ड परीक्षा कराने की बात कही थी। कोरोना की वजह से क्षात्रों का बहुत समय बर्बाद हो चुका है। …

UP Board exam 2021: कब और कैसे होंगी हाईस्कूल-इंटरमीडिएट परीक्षाएं Read More »

गोरखपुर पुलिस

यूपी पुलिस नया कारनामा : लुटेरा बन सर्राफा व्यापारियों से लूट लिया 35 लाख का सोना

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के गोरखपुर जिले में सर्राफा व्यापारियों से 35 लाख का सोना, चांदी और नकदी लूटने वाले पुलिस (UP Police) के एक सब-इंस्पेक्टर और दो कांस्टेबल को गिरफ्तार कर लिया गया है। लूट के वक्त ये तीनों पुलिसवाले वर्दी में थे। घटना 20 जनवरी की है। महराजगंज के दो सर्राफा व्यापारी जेवरात …

यूपी पुलिस नया कारनामा : लुटेरा बन सर्राफा व्यापारियों से लूट लिया 35 लाख का सोना Read More »

Union Minister of State Shripad Naik car accident in Karnataka

उत्तर प्रदेश: बहू के कमरे से आपत्तिजनक स्थिति में पाए गए तीन युवक

बहू के कमरे से तीन युवक मिले वो भी आपत्तिजनक स्थिति में। खबर सुनकर हर कोई हैरान है। मामला उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले का है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, गुलरिहा थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले एक गांव में ये घटना मंगलवार की रात की है। जहां ससुर ने बहु के कमरे में घर …

उत्तर प्रदेश: बहू के कमरे से आपत्तिजनक स्थिति में पाए गए तीन युवक Read More »

एस्मा लागू

उत्तर प्रदेश में अगले छह महीने तक हड़ताल क्यों नहीं की जा सकती ?

उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने एस्मा लागू कर दिया है। सरकार के इस निर्णय के बाद अब यूपी में अगले छह महीने तक प्रदेश में किसी भी सरकारी विभाग, सरकार के नियंत्रण वाले निगम और प्राधिकरणों आदि में हड़ताल नहीं कर सकेंगे। इस संबंध में अपर मुख्य सचिव कार्मिक मुकुल सिंघल ने अधिसूचना जारी …

उत्तर प्रदेश में अगले छह महीने तक हड़ताल क्यों नहीं की जा सकती ? Read More »

कल्बे सादिक़

डॉ.कल्बे सादिक़ : ‘इल्म-ओ-अदब’ का वो सितारा जो सारी ज़िंदगी जिहालत के अंधेरों को इल्म की रौशनी से भरता रहा

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ की सर ज़मीं को यूं तो सूबे की ‘सियासत का मरकज़’ कहा जाता रहा है, मगर ये सर ज़मीं हमेशा से ‘इल्म-ओ-अदब’ के नाम से जानी पहचानी गई है। इस शहर-ए-लखनऊ ने ऐसे-ऐसे दानिशवर (बुद्धिजीवी) शख़्सियतों को परवान चढ़ाया, जिन्होंने अपने इल्म की रौशनी से केवल सर ज़मीन-ए-हिंद ही नहीं …

डॉ.कल्बे सादिक़ : ‘इल्म-ओ-अदब’ का वो सितारा जो सारी ज़िंदगी जिहालत के अंधेरों को इल्म की रौशनी से भरता रहा Read More »