1 Year of 370 Abrogation

कश्मीर के पत्रकारों के लिए पत्रकारिता जिंदगी और मौत का मामला है

पत्रकारिता को लोकतंत्र का चौथा स्तंभ माना जाता है। पत्रकारिता वैसे भी खतरे का काम है, ऐसे में जम्मू और कश्मीर के पत्रकारों के लिए यह जिंदगी और मौत का मामला हैं। समय- समय पर, जम्मू और कश्मीर के पत्रकारों और पब्लिकेशन्स को प्रशासन द्वारा सवालों के घेरे में खड़े कर दिया जाता हैं। अब …

कश्मीर के पत्रकारों के लिए पत्रकारिता जिंदगी और मौत का मामला है Read More »

कश्मीर मानसिक स्वास्थ्य

कश्मीर में लगातार लॉकडाउन से लोगों के मानसिक स्वास्थ्य पर बुरा असर

कश्मीर में लगे लॉकडाउन को 5 अगस्त को पूरा एक साल होने वाला है। पिछले साल 5 अगस्त को संविधान से आर्टिकल 370 और 35 ए को हटाकर जम्मू – कश्मीर राज्य को केंद्र शासित प्रदेश बना दिया था। इस पूरे एक साल में लोगों के मानसिक स्वास्थ्य पर काफी असर पड़ा हैं। इस फेैसले …

कश्मीर में लगातार लॉकडाउन से लोगों के मानसिक स्वास्थ्य पर बुरा असर Read More »

militancy in kashmir

40% drop in youth joining militancy in Kashmir, security forces maintain tight vigil

A year after the abrogation of Article 370, militancy has been on the backfoot in J&K as security forces intensify action GR News Desk | Srinagar Jammu and Kashmir have seen bloodshed for over three decades now, and the situation is still serious as the security forces continue a tight vigil across the state. With …

40% drop in youth joining militancy in Kashmir, security forces maintain tight vigil Read More »

बीजेपी नेता सज्जाद अहमद खांडे की हत्या

Curfew ordered in Kashmir till August 5, intel reports of ‘violent protests’

As Kashmir marks one year of abrogation of Article 370, authorities have imposed a two-day curfew on Tuesday and Wednesday in anticipation of violent protests. The Srinagar district magistrate in an order said they have got information about “separatists and Pakistan sponsored groups planning to observe August 5 as Black Day”. “…Protests are not ruled …

Curfew ordered in Kashmir till August 5, intel reports of ‘violent protests’ Read More »