दलित उत्पीड़न की 10 दर्दनाक दास्तान, देश फैले जातिवाद को चीख-चीख कर बयां करती है

Ground Report | News Desk | Casteism in India | Real life Casteism | भारत में लोगों के साथ भेदभाव, क्रूर, अमानवीय और अपमानजनक व्यवहार को जाति (Casteism in India) का नाम देकर उचित ठहरा दिया जाता है। तकरीबन 16 करोड़ से भी ज़्यादा लोग इस दुर्व्यवहार (Casteism in India) को झेल रहे है। यह पहचान हर व्यक्ति को जन्म लेते ही मिल जाती है और यह वंश पर आधारित होती है और अनुवांशिक (Hereditary) रहती है। दलितों के मौलिक नागरिक, राजनीतिक, आर्थिक, सामाजिक और सांस्कृतिक अधिकारों का उल्लंघन निजी व्यक्तिओं और राज्य सत्ता द्वारा किया जाता है। आइये कुछ ऐसी सत्य घटनाओ पर नज़र डालते हैं जो जातिय दुर्व्यवहार को दर्शाती है : | Examples of Casteism in India

1) मध्य प्रदेश में दलित महिला से बलात्कार
ग्वालियर ज़िले के एक दलित परिवार ने आरोप लगाया है की दो सर्वाणो ने उनकी 19 वर्षीय बेटी का गैंगरेप किया। इनमे से एक उसका पोता है जिनके यह लड़की के पिता नौकरी करता था। जब उन्होंने पुलिस में शिकायत दर्ज़ करायी तो पुलिस ने कार्यवाही करने की जगह उस दलित परिवार के साथ ही मारपीट की और कंप्लेंट वापिस लेने की धमकी दी।

जातिगत टिप्पणी करने पर एक्ट्रेस युविका चौधरी के खिलाफ FIR

2) फ़िरोज़ाबाद में प्रेमिका से मिलने गए दलित युवक को परिवार वालों ने पीट – पीट कर मार डाला
फिरोजाबाद के रसूलपुर थाना क्षेत्र के मोहल्ला प्रेमनगर आसफाबाद के निवासी 23 वर्षीय युवक की मोहल्ला शांतिनगर में एक घर में पीट-पीट कर हत्या कर दी गयी। पुलिस ने मृतक के भाई की तहरीर पर मृतक की प्रेमिका समेत सात लोगों व तीन अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है। घायल युवक ने अस्पताल में दम तोड़ दिया।

3) सवर्णों ने की दो दलित युवकों की हत्या
तमिलनाडु के एक 17 वर्षीय युवक और उसके भाई की कथित तौर पर ऊंची जाति के लोगों के एक समूह ने पीट-पीटकर हत्या कर दी। किशोर ने अपने भाई को फोन कर बताया कि वन्नियार समुदाय के लोगों ने उसके साथ मारपीट की है। मृतक के परिवार का आरोप है कि वर्षों से आरोपी उन्हें प्रताड़ित कर रहे थे।

4) यूपी के झांसी में 8 साल की दलित लड़की की बेरहमी से पीट-पीटकर हत्या कर दी गई
बलात्कार के प्रयास का विरोध करने पर दलित समुदाय की एक लड़की को एक व्यक्ति ने बेरहमी से पीट-पीट कर मार डाला। घटना उत्तर प्रदेश के झांसी शहर की है। नाबालिग लड़की दूध लाने के लिए घर से निकली थी। काफी देर तक जब वह घर नहीं लौटी तो परिजन उसकी तलाश करने लगे।

5) IIT खड़गपुर के प्रोफेसर का ऑनलाइन कक्षा में छात्रों को ‘दुर्व्यवहार’
भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) खड़गपुर के एक एसोसिएट प्रोफेसर द्वारा एससी और एसटी छात्रों के साथ दुर्व्यवहार का मामला सामने आया। वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हुआ। इस वायरल वीडियो में, प्रोफेसर चिल्लाते हुए और एक प्रारंभिक कक्षा के छात्रों को ‘बेशर्म’ और अपशब्द कहते नज़र आए।

6) कुर्सी पर बैठे दलित युवक की पीट-पीटकर हत्या
एक 21 वर्षीय दलित युवक को एक शादी में ऊंची जाति के पुरुषों के एक समूह ने पीट-पीट कर मार डाला, जब उन्होंने उसे एक कुर्सी पर बैठे और उसके सामने रात का खाना खाते देखा। वो दलित व्यक्ति खाना खा रहा था कि तभी सवर्ण व्यक्ति ने उसके प्लेट पर लात मार दी, और कुर्सी से धक्का दे दिया। उस सवर्ण व्यक्ति को दलित का कुर्सी पर बैठना ना-गवारा था।

जैन धर्म के खिलाफ Anoop Mandal ने क्या जहर उगला था, जिससे भड़क उठा पूरा जैन समूदाय

7) मूछों को लेकर दलित व्यक्ति पर 11 लोगों ने किया हमला
अहमदाबाद के वीरमगाम तालुका में 11 लोगों ने लंबी मूंछ रखने के आरोप में एक दलित व्यक्ति पर कथित तौर पर हमला कर दिया। हमलावरों ने पीड़ित का इस्तेमाल किया और उसके साथ मारपीट की। इस घटना में अब तक तीन लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

8) दलित परिवारों पर 100-150 लोगों का हमला
बिहार के पूर्णिया जिले के नियमतपुर गांव में सनसनीखेज घटना हुई। यहां 100-150 लोगों ने दलित परिवारों पर हमला किया। साथ ही में उनके साथ मारपीट की और उनके घर भी जला दिए। इस घटना में एक व्यक्ति की मौत हो गई। मामले की जानकारी मिलते ही प्रशासन सक्रिय हो गया और गांव में पुलिस बल तैनात कर दिया गया।

9) दलित परिवार की पुलिस ने बेरहमी से की पिटाई, दंपती ने कीटनाशक खाकर आत्महत्या करने की कोशिश की
मध्यप्रदेश के गुना में एक दलित किसान दंपती की पुलिस ने बेरहमी से पिटाई की। प्रशासन उन्हें उस सरकारी ज़मीन के एक टुकड़े से हटाना चाहता था जहां पर उनकी फसल खड़ी थी। प्रशासन और पुलिस की मार के बाद दंपती ने कीटनाशक पीकर आत्म हत्या करने की कोशिश की। ये घटना 16 जुलाई 2020 की है।

10) उन्नाव में सवर्णों द्वारा दलित युवती का गैंगरेप, फिर प्रशासन शर्मानाक चेहरा आया सामने उन्नाओ की दलित युवती नौकरी की तलाश में अपने क्षेत्रीय विधायक कुलदीप सेंगर के यहां गयी थी। वह अपनी सीट से 4 बार चुनाव जीत चुका था । वहां जाने पर उस दलित युवती का कई लोगों ने रेप किया । जिसके बाद वह युवती लापता होगयी । कुछ दिन बाद युवती की तलाश सफल रही । पुलिस केस हुआ पर दोषी को सज़ा मिलने तक उसने अपने पद का इस्तेमाल करते हुए प्रशासन का गलत इस्तेमाल किया और युवती के सारे परिवार वाले और वकील को मरवा दिया । सुप्रीम कोर्ट के बीच में आने के बाद दोषी को उम्र कैद की सज़ा हुई ।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।