Skip to content
Home » ‘भारतीय सेना में इतिहास में पहली बार जाति के आधार पर होगी भर्ती’

‘भारतीय सेना में इतिहास में पहली बार जाति के आधार पर होगी भर्ती’

सेना भर्ती

Indian Army Recruitment : सोशल मीडिया पर सेना भर्ती (Indian Army Recruitment) से जुड़ा एक डॉक्युमेंट वायरल है। जिसके आधार पर दावा किया जा रहा है कि इतिहास पहली बार भारतीय सेना में भर्ती अब जाति के आधार पर की जाएगी। (Caste based recruitment in Indian Army?) वरिष्ठ पत्रकार और सोशल मीडिया पर मुखर्ता से सरकार को हर मुद्दे पर घेरने वाले प्रो. दिलीप मंडल ने (Dilip Mandal) सेना भर्ती से जुड़ा एक डॉक्युमेंट का एक पैरा मार्क करते हुए शेयर किया है। उन्होंने देश के प्रधानमंत्री मोदी को टैग करते हुए लिखा- ‘’भारतीय इतिहास में पहली बार सेना में भर्ती जाति के आधार पर होगी?’’

Indian Army Recruitment

क्या सेना में जाति के आधार पर भर्ती होती है?

प्राप्त जानकारी के मुताबिक भारतीय थल सेना में ही सिर्फ जाति आधारित भर्तियां होती हैं, वायु और नौ सेना में ऐसा कोई प्रावधान नहीं है। आर्मी की सबसे पुरानी रेजिमेंट  भारतीय राष्ट्रपति के बॉडीगार्ड (पीबीजी) में जाट सिख, राजपूत जाति से आनेवाले जवान ही सिर्फ भर्ती हो सकते हैं। इसको लेकर विवाद होते आए हैं। मामला कोर्ट तक पहुंच चुका है। इसके विरोध में लोग सेना में लंबे समय से अहीर रेजिमेंट की मांग करते आए हैं।

थल सेना में जाति आधारित भर्ती पर आर्मी का जवाब

पीबीजी में भर्ती विवाद पर आर्मी का कहना है ये आज़ादी के समय से चली आ रही ऐतिहासिक परंपरा का उदाहरण है। 1857 की क्रांति के बाद से इस परंपरा पर जोर दिया गया था। ब्रिटिश साम्राज्य ने वीरता और वफादारी के अपने निजी अनुभव के आधार पर यह व्यवस्था शुरू की थी।

सेना का कहना है कि भाषाई समानता को ध्यान में रखते हुए इन रेजिमेंट्स को बनाया गया है। ऑपरेशन के दौरान ऐसी समानता के कारण युद्द क्षेत्र में संग्राम जीतना आसान रहता है। प्रशासनिक सुविधा के साथ ऑपरेशन के दौरान इन क्षेत्र आधारित रेजिमेंट बहुत सहायक होते हैं।

आपको बता दें कि भारतीय थल सेना में ही रेजिमेंट की व्यवस्था है जबकि वायु सेना और नौसेना में ऐसा नहीं है। कई रेजिमेंट मिलकर पूरी थल सेना बनाती है।

क्यों मचा है सेना भर्ती पर हंगामा

भारतीय थल सेना में कम्युनिटी के आधार पर गोरखा या मराठा जैसी रेजिमेंट बनाई गई। क्षेत्र के आधार पर बनने वाली रेजिमेंट बिहार, कुमाउं, लदाख, मद्रास, असम आदि शामिल हैं। वहीं जाति के आधार पर राजपूत, जाट, डोगरा, राजपूताना, महार आदि शामिल है।

सेना में अग्निपथ योजना को लेकर मचे हंगामे के बाद अब सेना में भर्ती प्रक्रिया जारी है। वायु सेना और सेना में रेजिमेंट और जाति आधार पर भर्ती का कोई प्रावधान नहीं है। लेकिन सोशल मीडिया पर सेना भर्ती से जुड़ा एक डॉक्युमेंट शेयर कर दावा किया जा रहा है कि अब इतिहास में पहली बार इन दोनों सेनाओं में भी जाति के आधार पर भर्ती की जाएगी। हालंकि इसको लेकर अभी तक सेना ने कोई बयान नहीं जारी किया है।

You can connect with Ground Report on FacebookTwitterKoo AppInstagram, and Whatsapp and Subscribe to our YouTube channel. For suggestions and writeups mail us at GReport2018@gmail.com

Read More

%d bloggers like this: