Home » Citizenship Amendment Act: राहुल गांधी का सीएए पर बड़ा बयान, सीएए को बताया दूसरी नोटबंदी…

Citizenship Amendment Act: राहुल गांधी का सीएए पर बड़ा बयान, सीएए को बताया दूसरी नोटबंदी…

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

न्यूज़ डेस्क, ग्राउंड रिपोर्ट
नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) और नागरिकता रजिस्टर (NRC) को लेकर कांग्रेस नेता राहुल और प्रियंका गांधी ने शनिवार को केंद्र सरकार पर निशाना साधा। एक तरफ राहुल ने सीएए को दूसरी नोटबंदी बताया तो उधर प्रियंका ने कांग्रेस के 135वें स्थापना दिवस पर लखनऊ के पार्टी मुख्यालय में कहा कि सीएए और एनआरसी के विरोध में दूसरी पार्टियां सरकार से डर रही हैं और खुलकर विरोध नहीं कर पा रही हैं।
राहुल गांधी ने कहा कि सरकार दोबारा गरीबों को लाइन में लगाने की तैयारी कर रही है। उन्होंने भाजपा पर असम में नफरत फैलाने के आरोप भी लगाए और कहा कि प्रदर्शन करने वाले युवाओं को मारा जा रहा है।
राहुल ने दिल्ली में कहा कि सीएए और एनआरसी के जरिए मोदी सरकार गरीबों को एक बार फिर लाइन में खड़ा करना चाहती है। सरकार केवल अपने 15 उद्योगपति दोस्तों की मदद करना चाहती है। यह आम लोगों के लिए दोहरा झटका है, क्योंकि गरीबों से दस्तावेज दिखाने को कहा जाएगा। दूसरी तरफ, उद्योगपतियों से किसी दस्तावेज की मांग नहीं की जाएगी। यह असली मुद्दों से लोगों का ध्यान हटाने की कवायद है। यह नोटबंदी-2 है।
राहुल ने कहा, “भाजपा जहां भी जाती है, वहां नफरत फैलाती है। असम में युवा प्रदर्शन कर रहे हैं। इसी प्रकार अन्य राज्यों में भी ऐसे प्रदर्शन हो रहे हैं। आप उनकी हत्या क्यों कर रहे हैं? भाजपा लोगों की आवाज को सुनना नहीं चाहती है। हम भाजपा और संघ को असम के इतिहास, भाषा और संस्कृति पर आक्रमण नहीं करने देंगे। असम को नागपुर नहीं चलाएगा, असम को आरएसएस वाले नहीं चलाएंगे, बल्कि इसे असम की जनता चलाएगी।”
प्रियंका गांधी ने कहा कि सरकार देशभक्ति के नाम पर लोगों को डरा रही है, लेकिन हम डरने वाले नहीं हैं। अकेले भी रहेंगे तब भी आवाज बुलंद करेंगे। जो देशभर में एनआरसी की चर्चा फैलाते हैं, आज कहते हैं कि इस पर कोई चर्चा ही नहीं हुई थी। ये देश आपको पहचान रहा है, आपकी कायरता को पहचान रहा है और आपके झूठ सुनकर थक चुका है।
प्रियंका ने कार्यकर्ताओं से कहा कि हमें किसानों की आवाज़ उठानी होगी। हमें अहिंसा की दिशा में आगे बढ़ना होगा। हमें संगठन को मजबूत करने की जरूरत है। गांव-गांव और कस्बों में जाकर लोगों की समस्याएं सुननी होंगी और उन्हें हर संभव मदद देनी होगी। यूपी में अगला विधानसभा चुनाव अकेले लड़ने के लिए हमें तैयार रहना चाहिए।
कार्यक्रम में प्रियंका गांधी की सुरक्षाभंग हो गई, एक कार्यकर्ता दौड़कर प्रियंका के पास पहुंचा। हालांकि, बाद में उसे सुरक्षाकर्मियों ने पकड़ लिया, लेकिन प्रियंका ने उन्हें मना करते हुए कार्यकर्ता से बात की।
इससे पहले राहुल ने एक वीडियो ट्वीट किया था जिसमें उन्होंने असम में बने डिटेंशन सेंटर की तस्वीरें पोस्ट की थीं। भाजपा की तरफ से उन्हें झूठा बताने पर राहुल गांधी ने कहा- मैंने एक वीडियो ट्वीट किया था, जिसमें नरेंद्र मोदी कह रहे थे कि देश में कोई डिटेंशन सेंटर नहीं है। इसी वीडियो में आप डिटेंशन सेंटर की तस्वीरें देख सकते हैं। अब तय कीजिए कि झूठ कौन बोल रहा है।
पार्टी के स्थापना दिवस के मौके पर सोनिया गांधी ने दिल्ली के पार्टी मुख्यालय में तिरंगा फहराया। इस मौके पर राहुल गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, केसी वेणुगोपाल, अंबिका सोनी, एके एंटनी समेत अन्य नेता मौजूद थे।

READ:  Unlock Madhya Pradesh: दिल्ली की तरह MP में भी बढ़ेगा लॉकडाउन?