Budget 2020 Income Tax : टैक्स स्लैब में हुए ये बड़े बदलाव

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

ग्राउंड रिपोर्ट । न्यूज़ डेस्क

वित्त मंत्री (Nirmala Sitaraman) ने बजट (Budget 2020) में टैक्स स्लैब (New Tax Rules) में बड़े बदलाव किए हैं। एक नई सरलीकृत कर व्यवस्था पेश की जिसके तहत 5 लाख तक सालाना आय वालों को कोई आयकर नहीं देना होगा । 5-7.5 लाख कमाने वालों को 20 फीसदी की बजाय 10 फीसदी, 7.5-10 फीसदी आय वर्ग वालों को 20 फीसदी की बजाय 15 फीसदी और 10-12.5 आय वर्ग वालों को 30 फीसदी की बजाय 20 फीसद कर देना होगा।

  • 15 लाख से ज्यादा की आय पर 30% टैक्स जारी रहेगा
  • 12.5 लाख से 15 लाख की आय पर 30% की बजाय 25% टैक्स
  • 7.5 लाख से 10 लाख तक आय पर 20% की बजाय 15% टैक्स 
  • 10 लाख से 12.5 लाख तक की आय पर 30% की बजाय 20% टैक्स
  • 5 लाख रुपए से 7.5 लाख की आय पर 20% की बजाय 10% टैक्स लगेगा
READ:  मुल्ला और जिहादी बताकर तोड़ डाली साईबाबा की मूर्ती, कौन हैं ये लोग?

ALSO READ: Budget 2020 : देश में मुख्य समस्या बेरोज़गारी, बजट में इसपर कोई ठोस प्रावधान नहीं

ALSO READ: Budget 2020 : वित्त मंत्री ने किसानों के लिय की ये बड़ी घोषणाएं

  • नई व्यवस्था में 70 तरह के डिडक्शन खत्म किए, टैक्सपेयर डिडक्शन चाहें तो पुरानी व्यवस्था का विकल्प ले सकते हैं
  • डायरेक्ट टैक्स से जुड़े विवाद निपटाने के लिए विवाद से विश्वास योजना, ब्याज और पेनल्टी में छूट मिलेगी
  • नई टैक्स दरों से 15 लाख सालाना तक आय वालों को 78 हजार रुपए का फायदा होगा
  • को-ऑपरेटिव सोसायटीज: 30 फीसदी की जगह 22 फीसदी टैक्स देना होगा।
  • आधार के जरिए अप्लाई करने पर तुरंत पैन देने की व्यवस्था।
  • शेयर बाजार: डिविडेंड डिस्ट्रीब्यूशन टैक्स कंपनियों की बजाय शेयरधारकों पर लागू होगा।
READ:  कुपोषण मिटाने के लिए महिलाओं ने पथरीली ज़मीन को बनाया उपजाऊ

वित्त मंत्री ने बैंकिग सेक्टर बोलते हुए कहा कि, ‘भरोसेमंद और मजबूत फाइनेंशियल सेक्टर की हमें जरूरत है। फाइनेंशियल आर्किटेक्चर में लगातार मजबूती की जरूरत है। हमने कुछ बैंकों का विलय किया है। पब्लिक सेक्टर बैंकों में हमने पूंजी लगाई है ताकि वे प्रतिस्पर्धी बनें। सभी शेड्यूल्ड कमर्शियल बैंकों पर निगरानी की व्यवस्था है ताकि लोगों का जमा पैसा सुरक्षित रहे। डिपॉजिट इंश्योरेंस कवरेज को भी विस्तार दिया है। डिपॉजिटर के लिए इंश्योरेन्स कवर एक लाख से बढ़ाकर पांच लाख किया जा रहा है’।

आप ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@gmail.com पर मेल कर सकते हैं।