Home » कोरोना से भी अधिक घातक है ‘बीजेपी महामारी’ !

कोरोना से भी अधिक घातक है ‘बीजेपी महामारी’ !

Contempt petition in SC
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

साल 2020 भारत के लिए ही नहीं अपितु पूरे विश्व के लिए निराशा भरा है। साल के ६ महीने बीत चुके हैं लेकिन कोरोना का संक्रमण खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है, न ही कोई उम्मीद है कि कोरोना का खात्मा कब होगा।

विश्व में न्यूजीलैंड को हम एक अपवाद के रूप में देख सकते हैं जो पूरी तरह से कोरोना मुक्त हो गया है। NBT की एक रिपोर्ट में बताया गया कि विश्व में कुल 25 देश हैं जहां कोरोना पूरी तरह खत्म हो गया है। अगर वाकई इन देशों में कोरोना खत्म हुआ है तो इन देशों के प्रधानमंत्री व राष्ट्रपति ने अपने नागरिकों से ताली और थाली बजाने को बिल्कुल नहीं कहा होगा।

इस वैश्विक महामारी में देश वासियों व देश के प्रति मोदी सरकार का रवैया यह बताता है कि कोरोना से भी ज्यादा खतरनाक है बीजेपी महामारी

अगर भारत की बात करें तो साल 2020 के शुरूआत में देश में जब कोरोना संक्रमण के गिने चुने मामले थे तब हमारे देश के प्रधानमंत्री अपने भाषणों में अमेरिका, इटली, रूस आदि देशों की तुलना करके वाहवाही लूट रहे थे लेकिन जब देश में कोरोना संक्रमण के मामले कुछ ही महीने में लाखों की संख्या पार कर गए तो इसकी जिम्मेदार विपक्ष के सर मढ़ दी।

 बरसों से महिलाएं लॉकडाउन में रहती आई हैं!

कोरोना संक्रमण के नाम पर पीएम केयर फंड में अरबों रूपए आए वो रूपए कहां गए किसी को कुछ पता नहीं। देश में कोरोना के मामलों में लगातार इजाफा हो रहा है लेकिन केन्द्र की बीजेपी सरकार के पास इससे बचाव के लिए ताली, थाली और लॉकडॉउन के अतिरिक्त कोई और उपाए नहीं हैं। क्वारंटीन सेंटर करीब-करीब बंद कर दिए गए हैं या यूं कह लें कि मोदी सरकार ने साफ कह दिया हो कि कोरोना से लड़ने के लिए हम किसी की मदद नहीं करेंगे।

READ:  BJP reaction on amrinder's resignation : बीजेपी का नया दांव, पार्टी छोड़ने के बाद अमरिंदर सिंह को बताया 'देशभक्त'

एक रिपोर्ट में बताया गया कि पिछले 24 घण्टे में भारत में कोरोनावायरस संक्रमण के 30 हजार नए मामले सामने आए हैं जो एक दिन का सर्वाधिक आंकड़ा है। कोरोनावायरस संक्रमण के मामले में भारत तीसरे स्थान पर है, पहले स्थान पर अमेरिका व दूसरे स्थान पर ब्राजील है। भारत में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 937,487 पहुंच चुका है, अगर कोरोना संक्रमण से हुई मौत की बात करें तो यह आंकड़ा भारत देश में 24,315 पहुंच चुका है। कोरोना संक्रमण के मामले में भारत से कहीं ज्यादा अच्छी स्थिति पाकिस्तान की है। विश्व में पाकिस्तान कोरोना संक्रमण के मामले में १२ वें पायदान पर है।

भारत में कोरोना संक्रमण के मामले 20 लाख के हुए पार

कोरोना संक्रमण से देश में 20 लाख से ज्यादा लोग ग्रसित हो चुके हैं लेकिन मोदी सरकार के कानों में जूं तक नहीं रेंग रही है। अगर केन्द्र की मोदी सरकार को देश की जनता की जरा सा भी फिक्र होती तो सेनेटाइजर जैसे अन्य आवश्यक सामानों में टैेक्स न लगाती। कोरोना से बचाव के लिए कुछ तो प्रयास जरूर करती। लेकिन बीजेपी के सर्वेसर्वा नरेन्द्र मोदी तो प्रदेशों में दूसरी पार्टी की सरकार गिराकर बीजेपी की सरकार बनाने में लगे हैं। विधायकों को खरीदने के लिए नरेन्द्र मोदी के पास रूपए हैं, वर्चुअल रैली के लिए उनके पास रूपए हैं लेकिन देश की जनता को देने के लिए व कोरोनावायरस से लड़ने के लिए कुछ नहीं है।

READ:  100% FDI in Telecom sector, Once BJP was against it

विश्व आदिवासी दिवस: संघर्ष और पर्यावरण संरक्षण का प्रतीक है आदिवासी समुदाय

किसान परेशान हैं, युवाओं के पास रोजगार नहीं है, दिहाड़ी मजदूर भूखों मर रहे हैं, पेट्रोल-डीजल के दामों में लगातार वृद्धि हो रही है। 20 हजार करोड़ में कितने नीचे तबके के लोगों को लाभ मिला हैं इसका कोई आंकड़ा नहीं है, सरकारी संस्थाओं का निजी करण करने से आमजन का लाभ भी मोदी सरकार जनता को बताएं। सरकारी राशन की दुकान पर राशन के नाम पर गरीबों के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है, मिट्टी का तेल मिलना बंद होने से किसानों को खेती करने में दिक्कत हो रही है क्योंकि भारत का किसान इतना अमीर नहीं है कि वह 80 रूपए लीटर डीजल खरीदकर खेत सींच सकें।

ये लेख दिल्ली में पत्रकारिता कर रहे पत्रकार अभय प्रताप सिंह ने लिखा है ।

ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।