Home » प्रधानमंत्री मोदी को बड़ा झटका, अकाली दल ने बीजेपी को कहा अलविदा, NDA से नाता तोड़ा

प्रधानमंत्री मोदी को बड़ा झटका, अकाली दल ने बीजेपी को कहा अलविदा, NDA से नाता तोड़ा

farmers protest: meeting between farmers and modi sarkar en without conclusion next talks on 8 January 2021 46033 Bombay High court slams modi Govt: Tablighi jamat Muslims bali ka bakra corona
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

केन्द्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) को बहुत बड़ा झटका लगा है। बीजेपी (BJP) के सबसे पुराने सहयोगियों में से एक शिरोमणि अकाली दल (Shiromani Akali Dal) ने किसान बिल (Kisan Bill) के विरोध में एनडीए (NDA) को छोड़ दिया है। अकाली दल का कहना है कि उसने इस महीने के शुरू में विवादास्पद तीन कृषि बिल पर तीखे मतभेदों के बाद सत्तारूढ़ पार्टी बीजेपी के राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) को छोड़ दिया है। अकाली दल के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने पहले कहा था कि उनकी पार्टी सत्तारूढ़ पार्टी के साथ संबंधों की समीक्षा कर रही है। उन्होंने राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद से किसानों के साथ खड़े होने और विधेयकों पर हस्ताक्षर नहीं करने का अनुरोध किया है।

Bharat Band 2020 : किसान बिल के विरोध में सड़कों पर ट्रैक्टर लेकर उतरे तेजस्वी यादव

READ:  Green Tea for Immunity: कोरोना काल में ग्रीन टी सबसे अच्छा इम्यूनिटी बूस्टर

अकाली दल का कहना है कि, MSP को समाप्त करने की आशंकाओं के चलते हमने नए कानूनों का विरोध किया है। उसके मुताबिक ये बिल खेती में प्राइवेट प्लेयर छोटे और सीमांत किसानों के लिए मुसीबत पैदा कर देंगे। वहीं इससे पहले हिन्दी न्यूज चैनल एनडीटीवी से बातचीत में करते हुए अकाली दल के नेता सुखबीर सिंह बादल ने कहा था कि संसद में अकाली दल ने जिस तरह से इस मुद्दे को उठाया उतना और किसी पार्टी ने नहीं उठाया।

लोकसभा में पास हुए कृषि विधेयक पर हंगामा क्यों?

बता दें कि कृषि बिल को लेकर देश भर में विभिन्न स्थानों पर विरोध प्रदर्शन जारी है। इन प्रदर्शनों के बीच सुखबीर सिंह बादल ने पंजाब के मुक्तसर में किसानों को संबोधित करते हुए कहा था कि, ‘अकालियों के एक बम ने मोदी को हिला दिया।’ हरसिमरत कौर बादल ने भी राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से गुहार लगाई थी कि वे कृषि विधेयकों पर हस्ताक्षर किए बिना लौटा दें।

READ:  Dr. KK Aggarwal Death: डॉ. केके अग्रवाल का निधन, दोनों टीके लगवाने के बावजूद कोरोना से मौत

सत्ता में क़ाबिज़ ताक़तों ने हमेशा से वंचित लोगों को ज्ञान से दूर रखने के लिए तमाम तरह के षड़यंत्र रचें हैं!

वहीं इससे पहले अकाली दल ने कहा था कि, राज्यसभा में कृषि से संबंधित विधेयकों के भविष्य पर फैसला होने और अपने कार्यकर्ताओं से परामर्श करने के बाद इस बारे में विचार करेगा कि वह भाजपा नीत राजग गठबंधन में शामिल रहेगा या नहीं। इन सब बातों के बीच अब बड़ी खबर आई है कि शिरोमणी अकाली दल ने बीजेपी नीत एनडीए से गढबंधन तोड़ दिया है। अब वह रूलिंग पार्टी यानी मोदी सरकार का हिस्सा नहीं है वह विपक्ष में बैठेगा।

READ:  PM Modi to chair important meeting on COVID-19 situation

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।