Big shock to India, China imposes ban on entry of Indians due to coronavirus

China banned Indians entry: भारतीयों के प्रवेश पर चीन ने लगाया प्रतिबंध, भारत को बड़ा झटका

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

China banned Indians entry: दुनिया भर को कोरोना वायरस जैसी जानलेवा महामारी देने वाले चीन ने अब भारत को बहुत बड़ा झटका दिया है। चीन ने कोरोना संक्रमण के चलते अपने यहां भारतीयों के प्रवेश पर रोक (China banned Indians entry) लगा दी है। चीन ने वीजा या रेसीडेंट परमिट वाले भारतीयों के प्रवेश पर रोक लगा दी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के चलते न सिर्फ बल्कि दुनियाभर के कई अन्य देशों के लोगों की यात्रा पर भी रोक लगा दी है। चीनी दूतावास की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि, भारत, ब्रिटेन, बेल्जियम और फिलीपींस जैसे अन्य देशों के यात्रियों के चीन में प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। बयान में कहा गया है कि चीनी दूतावास और वाणिज्य दूतावास देश में उपर्युक्त श्रेणियों के धारकों के लिए स्वास्थ्य घोषणा पत्र पर मुहर नहीं लगाएंगे।

READ:  Delhi Lockdown: क्या दिल्ली में बस लगने ही वाला है लॉकडाउन?

चीन ने उन सभी देशों के यात्रियों पर प्रवेश पर रोक लगा दी है जहां कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। भारत भी उन्हीं देशों में से एक हैं जहां अब भी प्रतिदिन 50 हजार से ज्यादा कोरोना के मामले सामने आ रहे हैं। कोरोना के बढ़ते खतरे को भांपते हुए चीन ने यह कदम उठाया है। भारत के यात्रियों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाने के साथ ही चीन ने उन भारतीयों के प्रवेश पर भी रोक लगा दी है जो वैध वीजा के साथ चीन में रह रहे हैं।

घर पर ही संभव है कोरोना का इलाज, पर बरतें जरूरी सावधानियां

चीन द्वारा जारी एक बयान के मुताबिक, कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के चलते चीन ने ब्रिटेन, बेल्जियम और फिलीपींस के लोगों के प्रवेश पर रोक लगा दी है। वहीं संयुक्त राज्य अमेरिका, फ्रांस और जर्मनी के यात्रियों को अतिरिक्त स्वास्थ्य परीक्षण रिजल्‍ट पेश करना होगा। जबकि ब्रिटेन से यात्रा करने वाले गैर चीनी नागरिकों को अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया है भले ही वे वैध वीजा और निवास परमिट रखते हों।

READ:  मध्यप्रदेशः सीएम शिवराज सिंह चौहान ने छात्रों के खातों में डाले 137.66 करोड़ रुपये

ब्रिटेन में चीनी दूतावास ने एक बयान जारी कर कहा कि, महामारी के जवाब में किसी भी देश द्वारा लगाए गए सबसे कड़े सीमा प्रतिबंध लगाए हैं। बेल्जियम और फिलीपींस में चीनी दूतावासों ने दोनों देशों के यात्रियों पर प्रतिबंध की घोषणा करते हुए इसी तरह के बयान जारी किए हैं। चीन में ब्रिटिश चैंबर ऑफ कॉमर्स ने कहा कि हम घोषणा की समाप्ति और प्रवेश पर प्रतिबंध से चिंतित हैं और इसे हटाए जाने पर आगे स्पष्टीकरण का इंतजार करेंगे।

चीन ने अपने बयान में कहा कि, ब्रिटेन से गैर चीनी यात्रियों की अस्वीकृति आई क्योंकि इंग्लैंड ने गुरुवार से शुरू होने वाले एक महीने के लॉकडाउन में प्रवेश किया है। ब्रिटेन में कोरोना वायरस से मौत का आंकड़ा यूरोप में सबसे अधिक है और यह रोजाना 20,000 से अधिक नए कोरोना वायरस मामलों से जूझ रहा है। बेल्जियम में नए कोरेाना के मामलों में यूरोप की प्रति व्यक्ति संख्या सबसे अधिक है, जबकि दक्षिण-पूर्व एशिया में फिलीपींस में इंडोनेशिया के बाद संक्रमणों और मौतों की संख्या सबसे अधिक है।

READ:  4 Pakistan cricketers who got married to an Indian

You can connect with Ground Report on FacebookTwitter and Whatsapp, and mail us at [email protected] to send us your suggestions and writeups