Home » मध्य प्रदेश उपचुनाव : शिवराज कैबिनेट बैठक में बड़ा फैसला, पटवारियों को दिए जाएंगे लैपटॉप..

मध्य प्रदेश उपचुनाव : शिवराज कैबिनेट बैठक में बड़ा फैसला, पटवारियों को दिए जाएंगे लैपटॉप..

शिवराज ने कहा- कांग्रेसी आएगा, दारू बांटेगा, कंबल बांटेगा बोलो- आप फंसोगे तो नहीं ? जनता ने दिया ये जवाब..
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

चुनाव आयोग ने मध्य प्रदेश विधानसभा उपचुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया है। वहीं प्रदेश में आज शिवराज कैबिनेट की बैठक भी हुई है। इस कैबिनेट बैठक में प्रस्ताव पास हुआ है जिसमें पटवारियों को लैपटॉप देने, बड़ामलहरा और जौरा की सिंचाई परियोजनाओं सहित कई अहम फैसलों पर मुहर लगी है।

मध्य प्रदेश उपचुनाव : आचार संहिता लागू होते ही प्रदेश में अटक गए हज़ारो करोड़ के ये काम

इस कैबिनेट की ब्रिफिंग करते हुए गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि अब पटवारी कहीं से भी बैठकर जमीन का नामांतरण, सीमांकन, फसल गिरदावरी आदि काम कर सकेंगे। प्रस्ताव के मुताबिक सभी पटवारियों को 7 साल के लिए लैपटॉप दिए जाएंगे। लैप का बीमा और जो भी खर्च होगा वो सरकार द्वारा किया जाएगा। लैपटॉप खरीदने के लिए सरकार हर पटवारी को 50 हजार रुपए देगी।

कैबिनेट में इन प्रस्तावों पर लगी मुहर

  • मध्यप्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं की उन्नयन और स्थापना के लेकर प्रदेश के करीब एक दर्जन स्वास्थ्य केंद्रों का उन्नयन पर कैबिनेट ने मंजूरी दे दी है। इसके तहत गोहद जिला भिंड, बरेली, गैरतगंज, बदनावर, सुसनेर, आगर मालवा, इछावर, सिलवानी, बेगमगंज, रायसेन के सांची में स्वास्थ्य केंद्रों का उन्नयन किया जाएगा। साथ ही कुछ नए स्वास्थ्य केंद्र की स्थापना होगी।
  • कांठल बृहद सिंचाई परियोजना बड़ा मलहरा की परियोजना को प्रशासनिक मंजूरी दी गई, इससे 15 हजार हेक्टेयर भूमि सिंचित होगी। मध्य प्रदेश राज्य परिवहन निगम के कर्मचारियों को पिछले 15 महीने से तनख्वाह नहीं मिली थी। ऐसे 15 महीनों के लंबित वेतन को भुगतान करने के प्रस्ताव को कैबिनेट द्वारा अनुमोदित किया गया है।
  • प्रदेश में संचालित यात्री बस सेवाओं में एकमुश्त टैक्स भुगतान की अवधि को 31 मार्च 2020 से बढ़ाकर 31 मार्च 2021 तक कर दी गई है। लॉकडाउन के दौरान यात्री बसों का टैक्स भी माफ करने का सरकार ने निर्णय लिया है।
  • मुरैना में चंबल के पानी से पेयजल की सप्लाई को लेकर लंबे समय से चली आ रही मांग को पूरा करते हुए कैबिनेट ने पेयजल आवर्धन योजना को स्वीकृति दे दी है। इससे मुरैना के आसपास के निकायों को भी फायदा मिलेगा।
  • कृषक कल्याण योजना और मध्यप्रदेश में पिछड़ा वर्ग आयोग के गठन को मंजूरी दी। इस योजना को हरी झंडी मिलने के बाद अब किसानों के खाते में 10 हजार रुपए की राशि आएगी।
  • मुरैना के जौरा विकासखंड में आसान बैराज में सिंचाई योजना को कैबिनेट ने अपनी मंजूरी दे दी, लंबे समय से ये मांग चली आ रही थी. इसमें 392 करोड़ रुपए की लागत आएगी।
  • जबलपुर स्टेट मध्य प्रदेश धर्मशास्त्र राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय के भवन के निर्माण के लिए कैबिनेट ने मंजूरी दे दी है। सिलवानी में नए स्वास्थ्य केंद्र की स्थापना की जाएगी। सभी अस्पतालों के लिए कैबिनेट ने पद भी स्वीकृत कर दिए हैं।
  • बड़ामलहरा और जौरा की सिंचाई परियोजनाओं को मंजूरी मिली।साइंस और टेक्नोलॉजी डिपार्टमेंट में भूमिगत पाइप लाइन डालने की अनुमति दी। राजस्व विभाग में कंप्यूटराइजेशन के लिए अब प्रदेश के 17 हजार पटवारियों को लैपटॉप दिया जाएगा।
READ:  CM Amrinder Singh resigned : अमरिंदर सिंह ने छोड़ा मुख्यमंत्री पद, पार्टी के एक बार फिर अलग थलग होने के आसार

कमलनाथ पर FIR दर्ज हुई तो मध्य प्रदेश में आग लग जाएगी !

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।