छत्तीसगढ़ : सावरकर का चेला था गोडसे, उसे मानव बम बनाकर भेजा गया था : भूपेश बघेल

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  • गोडसे को मानव बम की तरह एक विचारधारा के द्वारा तैयार किया गया था.
  • जब भाजपा-आरएसएस के लोग गोडसे मुर्दाबाद कहेंगे, तब मानूंगा सच्चा गांधीवादी
  • गांधी की हत्या की साजिश में सावरकर भी शामिल था

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता भूपेश बघेल ने कहा, ‘गोडसे सावरकर का चेला था, यह ऐतिहासिक तथ्य है, जिसे कोई खारिज नहीं कर सकता है. गांधी की हत्या की साजिश में सावरकर भी शामिल था, इससे भी कोई इनकार नहीं कर सकता है.’

बहुसंख्यकों में सांप्रदायिकता बढ़ी तो देश को बचाना मुश्किल होगा? : दिग्विजय सिंह

बता दें कि इससे पहले भूपेश बघेल ने कहा था कि जिस दिन पीएम नरेंद्र मोदी और आरएसएस उन लोगों पर कार्रवाई करेगी, जो नाथूराम गोडसे की तस्वीर अपने घर में लगाते हैं, उस दिन मैं मान लूंगा कि वह गांधीवादी हो गए.

READ:  Coronavirus से शरीर में आ गई है कमजोरी, ये पांच चीजें हैं Immunity Booster

साल 1948 में महात्मा गांधी की हत्या की साजिश में शामिल होने के आरोप में सावरकर को गिरफ्तार किया गया था. सावरकर को बापू की हत्या के छठवें दिन मुंबई से गिरफ्तार किया गया था. हांलाकि 1949 की फरवरी में उन्हें बरी कर दिया गया था.

हम किसी भी क़ीमत पर ताउम्र ग़ुलामी की ज़िंदगी गुज़ारने के लिय तैयार नहीं हैं

साल 2000 में वाजपेयी सरकार ने सावरकर को भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न देने की सिफारिश की थी. लेकिन तत्कालीन राष्ट्पति केआर नारायणन ने इस प्रस्ताव को स्वीकार नहीं किया था.

वहीं एक ट्वीट करते हुए छत्तीसगढ़ कांग्रेस ने लिखा-

READ:  उत्तर प्रदेश में Coronavirus और Lockdown की बदहाली बताते-बताते कैमरे पर रो पड़ा रिपोर्टर

जमाल ख़ाशुक़्जी की हत्या का हुक्म सऊदी के सबसे बड़े अधिकारी की तरफ़ से आया था

उन्होंने कहा कि द्विराष्ट्र का सिद्धांत सावरकर की ही देन है. आज विचारधारा की लड़ाई है. मौजूदा राष्ट्रवाद नही चलेगा. हमे गांधी के राष्ट्रवाद पर चलना है, मौजूदा राष्ट्रवाद के खिलाफ लड़ाई लड़नी है. सीएम बघेल के इस बयान के बाद सदन में जोरदार हंगामा शुरू हो गया और भाजपा ने गलत बयानी का आरोप लगाते हुए वॉकआउट कर लिया.