Home » HOME » भोपाल के ‘बजरंगी भाईजान’ के प्रयास से भारत पहुंची विदेश में फंसी युवक की लाश

भोपाल के ‘बजरंगी भाईजान’ के प्रयास से भारत पहुंची विदेश में फंसी युवक की लाश

रियल लाइफ के बजरंगी भाईजान के नाम से मशहूर भोपाल के प्रमुख समाजसेवी सैयद आबिद हुसैन के प्रयास से एक बार फिर विदेश में फंसी एक भारतीय की लाश सकुशल गांव आ गई। एक पखवाड़े की लंबी मशक्कत के बाद नगर के गोविन्द गणेशपुर अटिका निवासी संजय कुमार तिवारी (45) पुत्र इंद्रिका प्रसाद तिवारी की लाश ओमान से उनके गांव पहुंची।

शॉपिंग हब बन रहा है, झीलों का शहर भोपाल

संजय कुमार तिवारी पिछले दो साल से ओमान में काम कर रहे थे। बीती 16 सितंबर को उनके घर इंटरनेट नंबर से काल आई कि उनकी मृत्यु हो गई है। मौत की सूचना मिलते ही परिजनों में कोहराम मच गया था। परिजनों ने लाश को घर लाने के लिए काफी प्रयास किया। संजय तिवारी की पत्नी कांति तिवारी ने कई लोगों से मदद की गुहार लगाई, लेकिन वह सफल नहीं हो सकी।

READ:  मध्यप्रदेश मंत्री और विभाग, एक क्लिक में देखें पूरी लिस्ट

भोपाल: लॉकडाउन में अवैध शराब बेच रहे शख्स को क्राइम ब्रांच ने किया गिरफतार

बताया जाता है कि संजय जिस स्पांसर के पास काम कर रहे थे वह भी लाश भेजने में रुचि नहीं दिखा रहे थे। स्पांसर का इनके परिवार के पास कोई संपर्क नंबर भी नहीं था। इस दौरान संजय तिवारी की पत्नी कांति तिवारी ने मदद की गुहार लगाई। इसकी सूचना समाजसेवी सैयद आबिद हुसैन को मिली।

भोपाल: लॉकडाउन में हो रहा गरीबों पर अत्याचार

सैयद आबिद हुसैन ने ओमान में भारतीय राजदूत मनु महावर और फकरुद्दीन आनरेरी कांन्सुलेट मश्कत और भारत के विदेश मंत्री को ट्वीट और व्हाट्सएप के माध्यम से संजय तिवारी की विदेश में फंसी लाश को परिजनों तक पहुंचाने की बात रखी। अधिकारियों ने सैयद आबिद हुसैन को आश्वस्त किया कि संजय का शव तीन अक्तूबर को भारत पहुंच जाएगा। कुछ दिनों बाद संजय का शव उनके परिजनों को बिना कोई पैसा खर्च किये मिल गया।

READ:  Jagdish Sagar main Vyapam accused arrested, found with live cartridges

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।