Home » भोपाल: 2 बजे तक नहीं लिया निर्णय तो खुद खोल लेंगे दुकानें

भोपाल: 2 बजे तक नहीं लिया निर्णय तो खुद खोल लेंगे दुकानें

Bhopal
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Bhopal: कोरोना महामारी के चलते देश की आर्थिक स्थिति पर काफी असर पड़ा है। ऐसे में केसेस कम होने के कारण भोपाल में कोरोना कर्फ्यू हटते ही बाजार खोल दिया गया। Bhopal: जहां किराना और बाकी जरूरी समान वाली दुकानों को खोलने की छूट मिली है, लेकिन कपड़ा, बर्तन, सराफा और भी कई कारोबारियों को दुकानें खोलने की अनुमति नहीं मिली। जिससे आक्रोश में आकर उन्होंने विरोध करना चालू कर दिया।

क्यों गुस्साए भोपाल(Bhopal) व्यापारी

भोपाल में अनलॉक होने के बाद बाजार खोलने की अनुमति मिल गयी है लेकिन सिर्फ किराना और अन्य जरूरी सामान की दुकाने ही खोली जा सकती हैं। बाकी कपड़ा, बर्तन, सराफा बाजार को बन्द ही रखा जाएगा। जिसकी वजह से सोमवार सुबह 11 बजे व्यापारी खुद ही दुकानें खोलने के लिए बाजारों में उतर गए। भोपाल के पुराने शहर के करीब एक दर्जन व्यापारिक संगठनों के कुछ पदाधिकारियों ने लखेरापुरा, चौक व सराफा बाजार में इकट्ठा होकर विरोध करना शुरू कर दिया।

योगी आदित्यनाथ नहीं रहेंगे मुख्यमंत्री?

किन किन व्यापारियों ने किया विरोध

READ:  Kanpur Road Accident: कानपुर में भीषण सड़क हादसा, 16 की मौत कई घायल

ओल्ड भोपाल होलसेल रेडिमेड एसोसिएशन, राजधानी व्यापारी संघ, आजाद मार्केट व्यापारी संघ, चौक वस्त्र व्यवसायी संघ, इब्राहिमपुरा व्यवसायी संघ, लोहा बाजार व्यापारी संघ, चूड़ी व्यवसायी संघ, होलसेल कॉस्मेटिक संघ, राजधानी वस्त्र व्यापारी संघ और इस सब संगठनों से जुड़े 100 से ज्यादा व्यापारियों ने विरोध किया।

क्या कहना है व्यापारियों का

व्यापारियों का कहना है कि पूरे शहर में सभी दुकानें खोलने की अनुमति मिल गई है तो भोपाल में क्यों नहीं मिल रही है। जबकि यहां अब कोरोना के केसेस आने भी कम हो गए हैं। दो महीने हो गए हैं, दुकानें न खुलने से हमारा कारोबार ठप हो गया है। व्यापारी के साथ दुकानों पर काम करने वाले हजारों कर्मचारी भी बेरोजगार हो गए हैं।

Unlock in MP: मध्य प्रदेश में लॉकडाउन कब खुलेगा?

हजारों रुपये के बिजली के बिल, दुकान का किराया बढ़ता जा रहा है। कर्मचारियों को तनख्वाह भी देना है। ऐसे समय में क्या करें समझ नहीं आ रहा है। सरकार और जिला प्रशासन से भी लगातार मांग कर रहे हैं। फिर भी कोई हल नहीं निकला है। कोई सुनने को नहीं तैयार है।

READ:  कोरोना फैलान में बिल गेट्स जिम्मेदार, चीन से बातचीत का 866 पन्नों का ईमेल चैट लीक

सचिव मनोज जैन ने क्या कहा

ओल्ड भापाल होलसेल रेडिमेड एसोसिएशन के सचिव मनोज जैन ने बताया कि प्रशासन व सरकार को हमने दोपहर दो बजे तक का वक़्त दिया है अगर उस समय तक कोई निर्णय नहीं किया गया तो हम खुद ही दुकानें खोल लेंगे।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।