Home » Corona : ड्यूटी से घर लौट रहे भोपाल एम्स के दो डॉक्टरों की पुलिस ने की पिटाई

Corona : ड्यूटी से घर लौट रहे भोपाल एम्स के दो डॉक्टरों की पुलिस ने की पिटाई

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

भोपाल एम्स की एक महिला डॉक्टर सहित दो जूनियर डॉक्टरों की बुधवार को पुलिस द्वारा कथित पिटाई की घटना के बाद एक आरक्षक को लाइन हाजिर कर मामले की जांच के आदेश दिए गए हैं। हालांकि एम्स के निदेशक डॉ सरमन सिंह ने कहा कि हमें पुलिस से अब कोई शिकायत नहीं हैं क्योंकि पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों ने घटना की तुरंत बाद हमसे संपर्क कर मामले में तुरंत कार्रवाई की है। डॉक्टरों का आरोप है कि बुधवार शाम करीब 6.30 बजे इमरजेंसी ड्यूटी के बाद घर जाते समय पुलिस ने उनकी पिटाई की।

डॉ. रितुपर्ना और डॉ. युवराज सिंह ने डायरेक्टर को की गई शिकायत में कहा कि बुधवार शाम को वे अपनी शिफ्ट पूरी करने के बाद एम्स के गेट नंबर एक से बाहर निकल रहे थे। उसी समय गेट के पास तैनात पुलिसकर्मियों ने उन्हें रोककर अभद्र भाषा में बाहर घूमने का कारण पूछा। इस पर दोनों डॉक्टर्स ने उन्हें अपने पहचान पत्र दिखाए और अस्पताल से ड्यूटी खत्म होने के बाद घर जाने की बात कही। इसके बाद पुलिसकर्मियों ने उनसे मारपीट शुरू कर दी और गाली-गलौज करते हुए कहा- ऐसे डॉक्टर ही कोरोना फैला रहे हैं और देश का बंटाढार कर रहे हैं।

READ:  LNCT Bhopal: एलएनसिटी यूनिवर्सिटी में नेशनल फिजियोथैरेपी कॉन्फ्रेंस, 400 से ज्यादा स्टूडेंट हुए शामिल

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर घटना की निंदा की। उन्होंने प्रदेश सरकार से मामले की जांच कराने की मांग की। कमलनाथ ने ट्वीट किया- यह घटना बेहद शर्मनाक है। सरकार यह सुनिश्चित करे कि ऐसी घटनाओं की पुनरावृति ना हो। इसको लेकर निर्देश जारी किए जाएं।

पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों ने घटना के तुरंत बाद एम्स प्रबंधन से संपर्क कर संबंधित आरक्षक को ड्यूटी से हटाकर लाइन हाजिर कर दिया और मामले की जांच के आदेश दिए गए हैं।’ एसपी ने बताया, ‘पुलिस को सूचना मिली थी कि एम्स के पास कुछ सब्जी विक्रेता जमा हैं। भीड़ को हटाने के लिए पुलिस के दो आरक्षक एक चार पहिया वाहन में वहां पहुंचे। पुलिस को देखकर लोग यहां-वहां भागने लगे। वहीं पास में सादे कपड़े में ये दो युवा डॉक्टर खड़े मिले और पुलिसकर्मी भागती हुई भीड़ के बीच इन्हें पहचान नहीं सके। ये डॉक्टर वहां सब्जी नहीं बल्कि पास में ही दूध खरीद रहे थे। तभी इनके बीच कहासुनी हो गयी।’

READ:  Captain Amrinder Singh Left Congress: पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस को कहा अलविदा

पुलिस की मारपीट में डॉ. रितुपर्ना के पैर और डॉ. युवराज सिंह के हाथ में चोट आई। इसके बाद भोपाल एम्स के रेजिडेंट डॉक्टर एसोसिएशन (आरडीए) ने घटना को लेकर नाराजगी जताई। संगठन ने डायरेक्टर को लिखे पत्र में कहा- डॉक्टर्स मुश्किल हालात में काम कर रहे हैं। ड्यूटी से घर जा रहे दो डॉक्टर्स से मारपीट करने वाले पुलिस कर्मियों पर कार्रवाई की जानी चाहिए। पुलिस का गैरजिम्मेदार व्यवहार बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।