बढ़ते कोरोना को देख राहुल गांधी ने अपनी सभी बंगाल रैलियां रद्द की

कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने बंगाल में होने वाली अपनी सभी रैलियां रद्द करने का फैसला लिया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि बढ़ते कोरोना को देखते हुए मैं पश्चिम बंगाल में अपनी सभी जन रैलियां रद्द कर रहा हूं। मेरा सभी नेताओं को यही सुझाव है की वे मौजूदा स्थिति में चुनावी रैली के दुष्प्रभाव पर विचार करें।

देश में त्राहिमाम

देश में कोरोना महामारी से हालात इतने खराब हैं कि हर व्यक्ति इस समय दहशत में जी रहा है। जहां एक तरफ देश की सरकार को कोरोना को फैलने से रोकने के लिए कड़े कदम उठाने की ज़रुरत है। उसके उलट प्रधानमंत्री समेत तमाम नेता चुनावी रैलियों में भारी भीड़ जुटाकर लोगों को कोरोना की आग में झोंकते हुए दिखाई दे रहे हैं।

पश्चिम बंगाल में अभी तीन चरण के चुनाव बाकी हैं। इसके लिए देश के गृह मंत्री अमित शाह पश्चिम बंगाल में कई रोड शो और रैलियां आज करेंगे।

ALSO READ: अस्थमा मरीज़ों में होती है कोरोना से लड़ने की क्षमता?

चुनावी रैलियों पर देश में गुस्सा

जहां एक तरफ राहुल गांधी ने अपनी चुनावी रैलियां रद्द करके एक अच्छी मिसाल पेश की है तो वहीं बीजेपी की चारों तरफ आलोचना हो रही है लेकिन वे चुनावी रैलियों में टूटते कोरोना नियमों पर चुप हैं। उनका कहना है कि चुनाव आयोग को चुनाव ही नहीं करवाना चाहिए था। हम किसी तरह का कोई कानून नहीं तोड़ रहे। बीजेपी चुनाव जीत रही है इसलिए उनपर ऐसे आरोप लगाए जा रहे हैं। उधर पश्चिम बंगाल की मौजूदा मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बचे हुए चार चरणों के चुनाव को एक साथ कराने का सुझाव दिया लेकिन इसे चुनाव आयोग और बीजेपी ने सिरे से नकार दिया।

बंगाल में बढ़ता कोरोना

पश्चिम बंगाल में पिछले 24 घंटों में 7,713 मामले सामने आए वहीं 34 लोगों की कोरोना से मौत हो गए। एक्टिव मामले बढ़कर 45 हज़ार से अधिक हो गए हैं। ऐसे में यह बड़ा सवाल है कि क्या लोगों की जान से ज्यादा ज़रुरी है चुनाव?

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।