BoycottAmbaniAdani

किसानों की मांग #boycottjio

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

BoycottAmbaniAdani : बुधवार शाम को केंद्र का प्रस्ताव ठुकराते हुए किसान संगठनों ने दोनों प्रमुख मांगों पर टस से मस न होने की बात कही। क्रांतिकारी किसान यूनियन के अध्यक्ष दर्शन पाल ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में कहा कि उन्‍होंने देशभर में रिलायंस और अडाणी के उत्‍पादों का बहिष्‍कार करने का फैसला किया है। किसान संगठनों ने चेतावनी दी कि आंदोलन अब और तेज़ किया जाएगा। इसके अलावा रोज़ बीजेपी के मंत्रियों का घेराव भी किया जाएगा।

कई दौर की बातचीत के बावजूद केंद्र सरकार किसान संगठनों को मनाने में नाकाम रही। किसान संगठनों सरकार को सीधी चुनौती देते हुए कहा कि कृषि क्षेत्र से जुड़े तीनों नए कानून पूरी तरह वापस हों और सरकार न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य की गारंटी का कानून लाए, इससे कम पर किसान संगठन मानने को तैयार नहीं हैं।

READ:  यूपी के इन तीन ज़िलो में कोरोना का कहर जारी, सीएम योगी ने दिए सख्त निर्देश

वहीं, किसान संगठनो की इस प्रेस कांफ्रेस के बाद सोशल सोशल मीडिया पर भी BoycottAmbaniAdani ट्रेंड कर रहा है। लोग सोशल मीडिया पर अंबानी-अडानी के खिलाफ़ जमकर विरोध कर रहे हैं।

Was Hyderabad really Bhagyanagar before? Here is the Truth

राहुल गांधी ने सरकार पर हमला बोलते हुए लिखा कि जिस तरह से कृषि विधेयक पारित किए गए, हमें लगता है कि यह किसानों का अपमान है, इसलिए वे ठंड के मौसम में भी प्रदर्शन कर रहे हैं।

पूरे देश में धरना-प्रदर्शन की तैयारी है

किसानों ने कहा कि 14 दिसंबर को पूरे देश में धरना-प्रदर्शन की तैयारी है। दिल्‍ली और आसपास के राज्‍यों से ‘दिल्‍ली चलो’ की हुंकार भरी जाएगी।

READ:  Sweden's different approach makes no difference...

राज्‍यों में अनिश्चितकाल तक के लिए धरने जारी रखे जाएंगे। 12 दिसंबर तक जयपुर-दिल्‍ली और दिल्‍ली-आगरा हाइवे को जाम कर दिया जाएगा।

किसान नेता ‘रिलायंस जियो’ से खासा नाराज़ नज़र आए। उन्‍होंने कहा कि जियो के सिम पोर्ट कराने के लिए अभियान चलेगा। आंदोलन से जुड़े सभी किसान रिलायंस और अडाणी के सभी उत्‍पादों का बहिष्‍कार करेंगे।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें [email protected] पर मेल कर सकते हैं।