Home » HOME » BASANT PANCHAMI 2021: बसंत पंचमी के लिए सबसे अहम सरस्वती वंदना

BASANT PANCHAMI 2021: बसंत पंचमी के लिए सबसे अहम सरस्वती वंदना

BASANT PANCHAMI SARSAWATI VANDANA बसंत पंचमी माघ मास के शुक्लपक्ष की पंचमी तिथि को मनायी जाती है।इस दिन माँ सरस्वती की ये वंदना करें। BASANT PANCHAMI SARSAWATI VANDANA
Sharing is Important

BASANT PANCHAMI 2021: बसंत पंचमी माघ मास के शुक्लपक्ष की पंचमी तिथि को मनायी जाती है। इस बार 16 फरवरी को बसंत पंचमी (BASANT PANCHAMI SARSAWATI VANDANA) का त्योहार देशभर में बड़े धूमधाम से मनाया जाएगा। बसंत पंचमी को हम विद्या की देवी सरस्वती के जन्मदिन के रूप में मनाते है। शास्त्र में मान्यता है कि बसंत पंचमी के दिन माँ सरस्वती ब्रह्मा जी के मुख से प्रकट हुई थी इसलिए ज्ञान और बुद्धि की देवी होने के नाते इस दिन माँ सरस्वती की आराधना (BASANT PANCHAMI SARSAWATI VANDANA) की जाती है। वैसे तो सभी लोग माँ सरस्वती की पूजा करते हैं , लेकिन ज्ञान की देवी होने के नाते विद्यार्थी इस दिन मां सरस्वती की विशेष पूजा अर्चना करते है और माँ से ज्ञान और बुद्धि मांगते है।

BASANT PANCHAMI 2021: बसंत पंचमी पर भूलकर भी न करें ये काम

इस वंदना से करे माँ सरस्वती की उपासना
माँ सरस्वती की कृपा पाने के लिए माँ की वंदना जरूर करें। सुबह नहा-धोकर साफ सुथरे कपड़े पहना कर माँ सरस्वती की ये वंदना (BASANT PANCHAMI SARSAWATI VANDANA) जरूर करें-

READ:  सावधान! ATM कार्ड से खरीदते हैं शराब, तो लग सकता है लाखों का चूना

या कुन्देन्दुतुषारहारधवला या शुभ्रवस्त्रावृता।
या वीणावरदण्डमण्डितकरा या श्वेतपद्मासना॥
या ब्रह्माच्युत शंकरप्रभृतिभिर्देवैः सदा वन्दिता।
सा मां पातु सरस्वती भगवती निःशेषजाड्यापहा॥1॥


शुक्लां ब्रह्मविचार सार परमाम् आद्यां जगद्व्यापिनीम्।
वीणा-पुस्तक-धारिणीमभयदां जाड्यान्धकारापहाम्‌॥
हस्ते स्फटिकमालिकां विदधतीम् पद्मासने संस्थिताम्‌।
वन्दे तां परमेश्वरीं भगवतीं बुद्धिप्रदां शारदाम्‌॥2॥

मान्यता है कि वसंत पंचमी के पीले वस्त्र पहनने से माँ सरस्वती और भगवान विष्णु दोनों प्रसन्न होते हैं।

Lohri 2021: आखिर क्यों मनाई जाती हैं लोहड़ी, क्या है आग जलाने के पीछे की मान्यताएं

बसंत पंचमी 2021 का मुहूर्त
हिन्दू पंचांग के अनुसार, साल 2021 में बसंत पंचमी मंगलवार 16 फरवरी को मनाई जा रही है। इस दिन दुनियाभर में हिन्दू धर्म को मानने वाले बसंत पंचमी को पूरे रीति रिवाजों और धूमधाम से मनाते हैं। एक्सपर्ट के मुताबिक, इस साल बसंत पंचमी के लिए शुभ मुहूर्त सुबह 6 बजकर 59 मिनट से लेकर 12 बजकर 35 मिनट तक रहेगा। यानी करीब 05 घंटे 36 मिनट तक बसंत पंचमी की पूजा के लिए शुभ मुहूर्त है। इस दिन आप पूरे विधि विधान के साथ मां सरस्वति की पूजा जरूर करें।

READ:  Is Kerala government trying to divide Christians and Muslims in the state?

आप ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@gmail.com पर मेल कर सकते हैं।

Scroll to Top
%d bloggers like this: