मास्क नहीं पहना तो हाथ-पैर में ठोक दी कीलें, UP Police सवालों के घेरे में!

Ground Report | News Desk |Uttar Pradesh Police beats youth for not wearing mask उत्तर प्रदेश पुलिस की बर्बरता की फिर एक नयी घटना सामने आयी है। बरेली के जोगी नवादा इलाके के 28 साल के युवक, रंजीत, ने आरोप लगाया है की मास्क न पहनने की वजह से पुलिस ने उसके हाथ और पैर में कीले ठोक दी। हालाकीं केस की दो एकदम अलग कहानियां बताई जा रही है।

क्या है दोनों पहलू ? Police’s side

रंजीत के मुताबिक वह किसी काम से बाहर जा रहा था, और पुलिस की पेट्रोलिंग उस वक़्त चालू थी। उसके पास जेब में मास्क रखा हुआ था पर उस वक़्त रंजीत ने मास्क मुँह पर लगाया हुआ नहीं था, इसलिए पुलिस ने उसे रोक कर मारा और बाद में आँखों पर पट्टी बाँध क्र उसके हाथों और पैरों में कीले ठोक दी। वही, दूसरी तरफ पुलिस ने सभी आरोपों को नकार दिया है, और दावा किया कि उसने एक कांस्टेबल पर हमले के मामले में गिरफ्तारी से बचने के लिए खुद को चोट पहुंचाई।

Godi Media : क्या है गोदी मीडिया? कौन है इसके टॉप पत्रकार?

Police पुलिस ने दावा किया है कि रंजीत शराबी है, जिस दिन की ये घटना है वो उस वक़्त बिना मास्क के घूम रहा था। जब कांस्टेबल हरी ओम ने उसे रोकने की कोशिश करी,तो उसने दुर्व्यवहार करना शुरू कर दिया। जब उसे पकड़ने की कोशिश की गयी तो वह कांस्टेबल को मार के वहां से भाग गया। बाद में, पुलिस ने उसे पकड़ने के लिए रंजीत के घर पर छापेमारी की लेकिन वह फरार ही रहा।

Also Read:  Viral Video: Seeking bail for her son, Bihar woman made to massage cop

हालाकीं दो दिन बाद जब रंजीत की माँ एसपी ऑफिस गयी तो ये वारदात सुनके पूरे ऑफिस में हड़कंप मच गया। बाद में पुलिस उसे जिला अस्पताल ले गई, जहां उसका इलाज चल रहा है। सीनियर पुलिस अधीक्षक (SSP – Senior Superintendent of Police) रोहित सिंह सजवान ने कहा कि एक जांच से पता चला है कि रंजीत का आरोप झूठा था।एसएसपी ने कहा कि यह 2019 के मूर्ति तोड़ने के मामले से ध्यान भटकाने और भागने के आरोपों का प्रयास था जिसका की मुख्या आरोपी रंजीत है । पुलिस ने सोमवार को उसके खिलाफ लॉकडाउन दिशानिर्देशों के उल्लंघन के लिए एमडीएमए अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया था। उन्होंने कहा कि युवक ने अब पुलिस से बचने के लिए यह साजिश रची है।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।