RBI का नया नियम : बैंक अब इन ग्राहकों का नहीं खोलेगा खाता

RBI का नया नियम : बैंक अब इन ग्राहकों का नहीं खोलेगा खाता

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने कर्ज लेने वाली कंपनियों के लिए चालू खाता (Current Account) खुलवाने को लेकर नए नियमों और पाबंदियों की घोषणा कर दी है आरबीआई ने कहा है कि कंपनियां सिर्फ उसी बैंक में अपना चालू खाता खुलवाएं या ओवरड्राफ्ट की सुविधा लें, जिससे कर्ज लिया है।

  • आरबीआई द्वारा जारी किए गए नए नियमों के मुताबिक, कंपनियों को उस बैंक में अपना करंट अकाउंट या ओवरड्राफ्ट अकाउंट (Overdraft Account) खुलवाना ही होगा, जिससे वे कर्ज़ ले रही हैं। इससे कर्जदाता बैंक (Lender Banks) को कंपनी के कैश फ्लो के बारे में पूरी जानकारी रहेगा।
  • बैंकिंग सिस्‍टम से 5 से 50 करोड़ रुपये तक का लोन लेने वाले उपभोक्‍ताओं का करंट अकाउंट सिर्फ कर्जदाता बैंक में ही खुल सकता है। नॉन-लेंडिंग बैंक ऐसी कंपनियों का सिर्फ कलेक्‍शन अकाउंट खोल सकते हैं यानी इनमें सिर्फ पैसा आ सकता है। इस पैसे का कर्ज देने वाले बैंक के कैश क्रेडिट अकाउंट में भुगतान करना होगा।
  • बैंकिंग सिस्‍टम से 50 करोड़ रुपये से ज्‍यादा का कर्ज लेनी वाली कंपनी का एक कर्जदाता बैंक में एक एस्‍क्रो अकाउंट खोलना होगा और यही बैंक करंट अकाउंट भी खोल सकता है। ऐसी कंपनी का दूसरे बैंक कलेक्‍शन अकाउंट खोल सकते हैं।
  • आरबीआई (RBI) इस फैसले की मदद से कर्ज के तौर पर ली गई रकम की हेराफेरी पर रोक लगाना चाहता है। अभी तक ज्‍यादातर कर्ज लेने वाली कंपनियां सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों से लोन लेते हैं, लेकिन रोजमर्रा की जरूरतों के लिए करंट अकाउंट विदेशी या निजी बैंक में खुलवाते हैं।
  • इसके साथ ही आरबीआई ने बैंकों से भी कहा है कि वे करंट अकाउंट को कर्ज़ देने के लिए इस्‍तेमाल ना करें। इसके बजाय बैंक कर्ज लेने वाले व्‍यक्ति को वस्‍तु और सेवाएं मुहैया कराने वाली कंपनी को सीधे भुगतान करें। इससे कर्ज की रकम की हेराफेरा पर रोक लगेगी।

ALSO READ : बरसों से महिलाएं लॉकडाउन में रहती आई हैं!

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।