Home » कंगना रनौत के खिलाफ FIR दर्ज करने का आदेश, पढ़िए पूरा मामला..

कंगना रनौत के खिलाफ FIR दर्ज करने का आदेश, पढ़िए पूरा मामला..

Kangana Ranaut
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Kangana Ranaut : कंगना रनौत के खिलाफ FIR : मुंबई की बांद्रा मजिस्ट्रेट कोर्ट ने बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत के खिलाफ सांप्रदायिक नफरत फैलाने के आरोप में FIR दर्ज करने का आदेश दिए हैं। कंगना पर धार्मिक भावनाएं भड़काने, कलाकारों को हिन्दू-मुसलमान में बांटने और सामाजिक द्वेष को बढ़ावा देने का आरोप लगा है। बांद्रा मजिस्ट्रेट कोर्ट में इस याचिका को मुन्ना वराली और साहिल अशरफ सैयद ने दायिर की है। 

इस याचिका में कहा गया कि कंगना रणौत अपने ट्वीट के जरिए बॉलीवुड में हिंदू-मुस्लिम समुदाय में झगड़ा कराने की कोशिश करती हैं। याचिकाकर्ताओं का कहना है कि कंगना के बयानों और उनके ट्वीट के जरिए दोनों समुदाय के बीच नफरत बढ़ती है। इस मामले में कंगना की बहन रंगोली को भी आरोपी बनाया गया है।

READ:  महाराष्ट्र: फार्मा कंपनी में आग से हड़कंप, लोगों में अफरा-तफरी

दीपिका से लेकर जैकलीन तक सब उठा रहीं मनरेगा की मजदूरी, शिवराज सरकार में सबकी बल्ले-बल्ले!

बताया गया है कि पहले इस सिलसिले में याचिकाकर्ता बांद्रा पुलिस स्टेशन पहुंचे थे, लेकिन पुलिस ने बॉलीवुड अभिनेत्री के खिलाफ संज्ञान लेने से मना कर दिया था। इसके बाद याचिकाकर्ताओं ने मामले की जांच के लिए कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। 

शिकायतकर्ता के मुताबिक, कंगना ने पालघर में हिन्दू साधुओं की हत्या और बृहन्मुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) को बाबर सेना कहकर भी उन्होंने भावनाएं भड़काने का काम किया। जमातियों पर देश में कोरोना वायरस फैलाने का आरोप लगाकर भी सांप्रदायिक माहौल बिगाड़ने की कोशिश की।

मुन्नावराली ने कंगना के उस ट्वीट का भी हवाला दिया, जिसमें उन्होंने कहा था, “उन लोगों ने मराठा गौरव पर एक भी फिल्म नहीं बनाई। इस्लाम के नियंत्रण वाली इस इंडस्ट्री में मैंने अपनी जिंदगी और करियर खतरे में डाला है। मैंने शिवाजी और लक्ष्मीबाई पर फिल्म बनाई है।”

READ:  Oxygen Concentrator क्या है? ऑक्सीजन कंसंट्रेटर के बारे में वो सब कुछ जो आप जानना चाहते हैं

मध्य प्रदेश : पति ने पत्नी और बेटी की हत्या कर कुल्हाड़ी से किए 22 टुकड़े, ग्रामीणों ने पकड़ा

उनके मुताबिक, ऐसे बयान हिन्दू और मुस्लिम कलाकारों के बीच घृणा को बढ़ाने का काम कर रहे हैं। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के खिलाफ कंगना के बयान का भी याचिकाकर्ता ने उल्लेख किया है।

सुनवाई के दौरान याचिकाकर्ता ने कंगना के कई ट्वीट को अदालत के सामने रखा। बताया गया है कि सीआरपीसी की धारा 156 (3) के तहत कंगना के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जा सकती है। मामला दर्ज होने के बाद बॉलीवुड अभिनेत्री से पूछताछ की जाएगी। इसके बाद अगर उनके खिलाफ सबूत मिलते हैं, तो उनकी गिरफ्तारी संभव है।  

READ:  Kangana Ranaut के अलावा इन 5 हस्तियों का भी Twitter Account suspend हो चुका है

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।